पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आवारा पशुओं से किसान परेशान:ग्राम सचिवालय में बंद किए मवेशी, ग्रामीण बोले- प्रशासन नहीं कर रहा गोशाला का इंतजाम

मितौलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कस्ता ब्लाक के मितौली में आवारा पशुओं से किसानों को खासी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। आवारा पशुओं से परेशान ग्रामीणों रविवार को मवेशियों को एकत्रित करके ग्राम सचिवालय में बंद कर दिया। इसके साथ ही ग्रामीणों ने गांव में गोशाला बनाये जाने की मांग की है। हालांकि बीडीओ ने पशुओं को गोशाला में भेजे जाने की व्यवस्था किये जाने की बात कही है।

शिकायत करने पर नहीं निकला हल
विकासखंड मितौली की पंचायत भवन में किसानों का आज गुस्सा देखने को मिला। छुट्टे मवेशियों से परेशान किसानों ने आवारा पशुओं को ग्राम सचिवालय में बंद कर दिया। ग्रामीणों का कहना है कि उन्होंने कई बार खंड विकास अधिकारी चंदन देव पांडे से शिकायत की तो गोशाला का निर्माण करवाये जाने का आश्वासन दिया गया, लेकिन समस्या का समाधान नहीं निकाला गया। आवारा पशुओं को उनके द्वारा बंद किया रहा है। जिसकी पूरी जिम्मेदारी खंड विकास अधिकारी मितौली की होगी।

आवारा पशुओं को पकड़ते ग्रामीण
आवारा पशुओं को पकड़ते ग्रामीण

सरकार नहीं दे रही ध्यान
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूपी विधानसभा चुनाव के पहले अपने भाषण में भी कहा था कि 10 मार्च के बाद आवारा पशुओं पर कार्य किया जाएगा। 2 महीने से ज्यादा समय बीत जाने के बाद भी इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया गया। वे लोग जानवरों से दिन-रात अपनी फसल की सुरक्षा करने में नाकाम हैं। थोड़ी देर के लिए भी खेत से हट जाने पर आवारा पशुओं के द्वारा पूरी फसल चौपट कर दी जाती है। आवारा पशुओं के प्रति सरकार कोई ध्यान दे रही है। स्थानीय प्रशासन के द्वारा उन्हें महज आश्वासन मिलता है।

धरना प्रदर्शन की चेतावनी
बवाना निवासी किसान रामचंद्र ने बताया कि उनके पास थोड़ी सी जमीन है। 4 महीने पहले उन्होंने गन्ने की बुवाई की थी और आज उनकी गन्ने की फसल पूरी तरह खत्म हो गयी। जिससे वह खून के आंसू रोने पर मजबूर हां। मजबूर आज उन्हें पशुओं को सचिवालय में बंद करना पड़ा। प्रशासन के द्वारा पशुओं के लिए जल्द व्यवस्था नहीं की गयी तो वे लोग धरना प्रदर्शन के लिए मजबूर होंगे।

इस प्रकरण को लेकर मितौली के खंड विकास अधिकारी चंदन पांडे ने कहा कि वे मौके पर पहुंचकर किसानों से संपर्क करेंगे। आवारा पशुओं को लोहाना गोशाला में भेजने की व्यवस्था करवा रहे हैं।

कस्ता विधानसभा से विधायक सौरभ सिंह सोनू ने बताया कि इस मामले से प्रशासन को अवगत करा दिया गया है। आवारा पशुओं को गोशाला में भेजने का इंतजाम खंड विकास अधिकारी करवा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...