पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गन्ने के भुगतान से पहले बैंकों ने थमाया नोटिस:गोला गोकर्ण नाथ में किसान संगठन ने तहसीलदार से कहा- किसान को पैसा दिलाएं तभी तो चुकाएंगे कर्ज

गोला गोकर्ण नाथ4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राष्ट्रीय किसान शक्ति संगठन ने बैंकों के ऋणी गन्ना किसानों पर की जा रही कार्रवाई पर रोक लगाकर तत्काल गन्ना मूल्य भुगतान कराने व उच्च न्यायालय के आदेशानुसार बजाज मिल की आरसी काटे जाने की मांग के समर्थन में एसडीएम के नाम तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा।

मांग पत्र में लिखा 'गन्ना पूर्ति एवं खरीद अधिनियम 1953 में 14 दिन में गन्ना भुगतान किए जाने का प्रावधान है। 13 दिसंबर 2021 को जिले के मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह की मौजूदगी में बजाज हिंदुस्तान शुगर लिमिटेड के अधिकारियों ने 14 दिन में गन्ने भुगतान का समझौता पत्र लिखा था। चीनी मिल बंद होने के बाद भी भुगतान नहीं किया गया।

मांग पत्र में बताया गया कि जबकि बैंकों द्वारा ऋणी गन्ना किसानों को आरसी काटे जाने और भूमि नीलामी करने की नोटिस दी गई है। संगठन के प्रदेश अध्यक्ष पटेल श्रीकृष्ण वर्मा के पिता सुरजन लाल वर्मा को आर्यावर्त बैंक से जारी नोटिस और बजाज मिल अधिकारियों द्वारा लिखे गए समझौता पत्र भी दिखाया।

बैकों ने नीलामी का दिया नोटिस

ज्ञापन में कहा गया है कि गन्ना भुगतान न हो पाने के कारण बैंकों से लिया गया ऋण किसान अदा नहीं कर पाए हैं। बैंकों द्वारा वसूली प्रमाण पत्र जारी कर संपत्ति भूमि की नीलामी करने की नोटिस दी गई है। जिस कारण कर्जदार किसानों के परिवार मानसिक रूप से बहुत परेशान हैं। ज्ञापन देते समय प्रदेश अध्यक्ष/ संयोजक पटेल श्री कृष्ण वर्मा ,जिला अध्यक्ष संतोष सिंह, रविंद्र वर्मा, सर्वेश कुमार, राहुल वर्मा ,अवधेश कुमार आदि किसान मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...