पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शोषण के खिलाफ किसानों ने उठाई आवाज:कहा-मंडी समिति में ही हो धान की खरीद, नहीं मिल रहा निर्धारित मूल्य

गोला गोकर्ण नाथ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गोला गोकर्ण नाथ से भारतीय किसान यूनियन चढ़ूनी के एक प्रतिनिधिमंडल ने मांगों को लेकर डीएम को संबोधित ज्ञापन सौंपा। किसानों की समस्याओं के समाधान की मांग की।

प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि शीघ्र ही धान की फसल पक कर तैयार हो जाएगी। धान बेचने में किसानों को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

धान खरीद में हो रहा शोषण

प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि सरकार ने धान का न्यूनतम मूल्य निश्चित किया है। इसके बावजूद धान मिल-मालिक मिलकर किसान को इससे बहुत कम मूल्य देते हैं। इससे किसानों का आर्थिक शोषण होता है। जो धान मंडी समिति प्रांगण में आता है, उसको भी मिल मालिक और उनके दलाल वाहन में ही देखकर मिल में ले जाते हैं और वहां तौल करते हैं।

बारिश से फसलों को पहुंचा नुकसान

प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि अधिकारियों द्वारा यह सुनिश्चित किया जाए कि किसानों का आर्थिक शोषण न हो। मंडी में ही सभी तरह के अनाजों के खरीद की व्यवस्था की जाए। जिलाध्यक्ष बलकार सिंह ने बताया कि असमय बारिश ने किसानों का वैसे भी काफी नुकसान किया है। गन्ना भी गिर गया और धान को भी नुकसान पहुंचा है। मौके पर अमनदीप सिंह संधु प्रदेश महासचिव , ज़िला अध्यक्ष बलकार सिंह , हरप्रीत सिंह , रेशम सिंह ,प्रेम सिंह, शिवराम कुमार, रामनरेश कुमार आदि किसान मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...