पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गोला गोकर्ण नाथ में नवमी पर मंदिरों में उमड़ी भीड़:मंगला देवी मंदिर पर श्रद्धालुओं ने की पूजा- अर्चना, कन्याओं को कराया भोजन

गोला गोकर्ण नाथ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गोला गोकर्ण नाथ में नवरात्रि के नौवें दिन माता सिद्धिदात्री की पूजा-अर्चना की गई। इसी के साथ शारदीय नवरात्रि का समापन भी हो गया। देवी मंदिरों पर भक्तों की काफी भीड़ रही।

पौराणिक मंगला देवी मंदिर पर आज कन्याओं का पूजन करके उन्हें हलवा, पूड़ी, चना का भोज कराया गया। उपहार देकर उनसे सुख, समृद्धि, यश ,वैभव की कामना की गई।

कन्या पूजन से आती है समृद्धि

मंदिर के पुजारी ने बताया कि नवरात्र में कन्या पूजन की परंपरा है। कन्या पूजन से न सिर्फ मां आदि शक्ति प्रसन्न होती हैं, बल्कि सुख व समृद्धि भी आती है। शास्त्रों में भी कन्या पूजन या कन्या भोज को अत्यंत ही महत्वपूर्ण बताया गया है। सनातन धर्म के लोगों में सदियों से ही कन्या पूजन और कन्या भोज कराने की परंपरा है।

गोला गोकर्ण नाथ में कन्याओं को भोजन कराया गया।
गोला गोकर्ण नाथ में कन्याओं को भोजन कराया गया।

2 से 10 वर्ष तक की कन्याएं माता का स्वरूप

बांकेगंज राधाकृष्ण मंदिर के पुजारी कुसुम शास्त्री ने बताया कि 2 वर्ष से लेकर 10 वर्ष तक की कन्याएं साक्षात माता का स्वरूप मानी गईं हैं। यही कारण है कि नवरात्र में इसी उम्र की कन्याओं का विधिवत पूजन कर भोजन कराया जाता है। मान्यता है कि होम, जप और दान से देवी उतनी प्रसन्न नहीं होतीं, जितनी कन्या पूजन से होती है।

खबरें और भी हैं...