पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सीएमओ को निरीक्षण में मिला सिर्फ चौकीदार:पीएचसी समउर में चिकित्सक और स्वास्थ्यकर्मी नदारद, बाहर से ही देखी व्यवस्थाएं

तमकुही राजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सकों और स्वास्थ्य कर्मियों के न मिलने पर बाहर से ही निरीक्षण कर लौटे सीएमओ। - Money Bhaskar
स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सकों और स्वास्थ्य कर्मियों के न मिलने पर बाहर से ही निरीक्षण कर लौटे सीएमओ।

समय से अस्पताल न खुलने और चिकित्सकों के उपस्थित न रहने की खबर को दैनिक भास्कर द्वारा चलाये जाने का बड़ा असर हुआ है। सीएमओ कुशीनगर सुरेश पटेरिया ने अचानक नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र समउर बाजार पहुंचकर निरीक्षण किया। निरीक्षण में सीएमओ को सिर्फ एक चौकीदार मिला। इसके अलावा अस्पताल में कोई भी स्वास्थकर्मी मौजूद नहीं मिला।

आपको बता दें कि बीते सप्ताह दैनिक भास्कर ने नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र समउर बाजार के समय से न खुलने, चिकित्सकों के प्रतिदिन उपस्थित न रहने को लेकर खबर चलाई थी। खबर चलने का असर हुआ कि स्वास्थ्य कर्मी समय से अस्पताल का गेट तो खोलने लगे थे, लेकिन यहां पर्याप्त आवास होने के बाद भी एक एएनएम के अलावा यहां रात्री विश्राम कोई नहीं करता। चिकित्सक और अन्य स्वास्थ्य कर्मी अस्पताल खुलने के समय आते हैं और अस्पताल बंद होते ही चले जाते हैं।

जवाब देने में टालमटोल कर गए सीएमओ
दैनिक भास्कर में खबर चलने के बाद कुशीनगर सीएमओ सुरेश पटेरिया अचानक नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र समउर बाजार का निरक्षण करने पहुंच गये। सीएमओ के निरीक्षण में एक चौकीदार के अलावा स्वास्थ केंद्र पर कोई नहीं मिला। सीएमओ ने अस्पताल की स्थिति देखी। पत्रकारों के सवालों का जवाब देने के बजाय वह यह कह कर टाल गये की ऐसे ही इधर से गुजर रहा था तो अस्पताल देखने को रुक गया। स्थानीय लोग सीएमओ के निरीक्षण का कई मायने निकाल रहे हैं।

बाहर से ही देखनी पड़ी व्यवस्थाएं
निरीक्षण के दौरान सीएमओ ने पूरे अस्पताल परिसर का निरीक्षण किया। इस दौरान आवास, बाउंड्री, पेयजल, लाइट, साफ सफाई अस्पताल भवन बन्द होने के कारण बाहर से ही उसका निरीक्षण किया। स्थानीय लोगों से अस्पताल के स्थिति की जानकारी ली। लोगों को उम्मीद है कि सीएमओ के द्वारा स्वास्थ केंद्र के निरीक्षण करने के उपरांत यहां के स्थिति में सुधार हो सकता है। सीएमओ के औचक निरीक्षण के बाद स्वास्थ सुविधाओं में क्या परिवर्तन होता है यह तो समय ही बताएगा।

खबरें और भी हैं...