पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59666.42-0.72 %
  • NIFTY17827.5-0.62 %
  • GOLD(MCX 10 GM)480700.26 %
  • SILVER(MCX 1 KG)633193.1 %

कुशीनगर में फंदे से लटकता मिला इंजीनियर का शव:चीनी मिल में डिप्टी चीफ इंजीनियर के पद पर थे तैनात, छठ मनाने गांव गया था परिवार

कुशीनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कुशीनगर में फंदे से लटकता मिला इंजीनियर का शव। - Money Bhaskar
कुशीनगर में फंदे से लटकता मिला इंजीनियर का शव।

कुशीनगर के सेवरही चीनी मिल के डिप्टी चीफ इंजीनियर की शुक्रवार को उनके आवास के कमरे में फंदे से लटकती लाश मिली। सूचना मिलते ही लोगों की भीड़ जमा हो गई। मौके पर पहुंची सेवरही पुलिस ने परिजनों के गांव से आने के बाद शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना को लेकर लोगों में तरह-तरह की चर्चाएं हैं।

कमरे में फंदे से लटकता मिला शव

बता दें कि देवरिया जिले के पैना गांव निवासी विजय बहादुर सिंह (45) सेवरही चीनी मिल में डिप्टी चीफ इंजिनियर के पद पर कार्यरत थे। शुक्रवार दोपहर बाद चीनी मिल अधिकारियों की आवासीय कॉलोनी स्थित उनके आवास के कमरे में फंदे से लटकती लाश मिली। आवास में शुक्रवार को वह अकेले थे। परिवार छठ मनाने गांव गया था। कारखाना प्रबंधक पुष्पेंद्र कुमार सिंह और चीनी मिल कर्मियों के अनुसार प्रत्येक दिन की भांति वह चीनी मिल में शुक्रवार को भी ड्यूटी पर गए थे।

इस दौरान शुक्रवार को चीनी मिल प्रबंध समिति की दो शिफ्टों में होने वाली बैठक में एक शिफ्ट में दोपहर 12:30 बजे तक मीटिंग में उपस्थित भी रहे। लंच के उपरांत जब वह दूसरी शिफ्ट में मीटिंग में नहीं पहुंचे तो अधिकारियों ने उनके मोबाइल पर फोन मिलाना शुरू किया। काफी देर तक स्विच ऑफ मिलने पर सुरक्षा गार्ड एवं चीनी मिल के कर्मी को उनके आवास पर देखने के लिए भेजा गया। चीनी मिल कर्मियों द्वारा आवास के दरवाजे से काफी आवाज लगाने पर जब कोई आवाज नहीं आई तो दरवाजा खोल कर अंदर पहुंचे। वहां का दृश्य देख स्तब्ध रह गए। डिप्टी चीफ इंजिनियर विजय बहादुर सिंह का शव पंखे में बंधे फंदे से लटका था। जानकारी होने पर अधिकारियों की भीड़ जमा हो गई।

12 साल से मिल में तैनात थे विजय बहादुर

विजय बहादुर सिंह सेवरही चीनी मिले में पिछले 12 साल से तैनात थे। परिवार के साथ चीनी मिल के बंगले में रहते थे। उनकी पत्नी किरण सिंह 15 वर्षीय बेटी दीपाली और 12 वर्षीय बेटे देवांश के साथ छठ पर्व की छुट्टियों में घर गई थीं। विजय बहादुर तीन भाई हैं, जिनमें एक भाई बलरामपुर चीनी मिल में काम करते हैं और दूसरे भाई पुलिस की रेडियो शाखा महराजगंज में काम करते हैं।

रात में घटनास्थल पहुंचे परिजन

मौके पर पहुंचे सीओ तमकुहीराज फूलचंद कनौजिया, प्रभारी निरीक्षक सेवरही आशुतोष सिंह, कस्बा चौकी इंचार्ज राजेश कुमार मिश्र, एसआई संदीप कुमार यादव ने घटनास्थल पर जांच-पड़ताल की। साथ ही मृतक के परिजनों को सूचना दी। मृतक के परिजन रात में घटनास्थल पर पहुंचे।

परिजनों और पुलिस ने इंजीनियर का मोबाइल चेक किया। साथ के लोगों से बातचीत की। मोबाइल लॉक था। साथ के लोगों और कर्मचारियों ने घटना पर अफसोस जताते हुए बताया कि दोपहर तक वह बिल्कुल नॉर्मल थे। कहीं से किसी तरह की परेशानी या हताशा नहीं दिख रही थी।