पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कसया... रेल मार्ग से कुशीनगर को जोड़ना बड़ा मुद्दा:बौद्ध भिक्षु बोले- पर्यटन को बढ़ावा मिलने की उम्मीद, पर अभी और होमवर्क की जरूरत

कसया, कुशीनगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीएम नरेंद्र मोदी का फाइल फोटो। - Money Bhaskar
पीएम नरेंद्र मोदी का फाइल फोटो।

शहर में सोमवार को पीएम नरेंद्र मोदी का कुशीनगर दौरा पर्यटन को बढ़ावा देने वाला है। वहीं बौद्ध भिक्षुओं का मानना है कि कुशीनगर में पर्यटन समेत अन्य क्षेत्रों में अभी और कार्य करने की जरूरत है। लेकिन उम्मीद है कि सरकार इस ओर गंभीरता से ध्यान देगी। शहर को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित कर यहां के लोगों को रोजगार मुहैया कराएगी।

बुद्ध अनुयायियों से संबंध होंगे प्रगाढ़

बौद्ध भिक्षु भंते महेंद्र का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बुद्ध पूर्णिमा पर कुशीनगर आगमन से यहाँ की शोभा और बढ़ जाएगी। बुद्ध अनुयायियों के यहां से संबंध और प्रगाढ़ हो जाएंगे। क्योंकि कुशीनगर जिले का सबसे बड़ा धार्मिक स्थल है। वहीं फाजिलनगर भी अब बुद्ध के चिन्हों को संजोकर पयर्टन मानचित्र पर ख्यातिलब्ध हो रहा है। प्रधानमंत्री के आने के बाद पर्यटकों की संख्या दोगुनी होने की संभावना है। उत्तर प्रदेश के पयर्टन को एक नया आयाम मिलेगा।

बौद्ध भिक्षुओं ने पीएम के दौरे को लेकर रखी अपनी राय।
बौद्ध भिक्षुओं ने पीएम के दौरे को लेकर रखी अपनी राय।

कुशीनगर को रेल मार्ग से जोड़ने की मांग

भदन्त मोग्गल्ली तिस्स ने कहा कि वर्षों से प्रतीक्षारत कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के सफल उड़ान के बाद अब कुशीनगर को रेल मार्ग से जोड़ने की मांग उठने लगी थी। दरअसल, कुशीनगर पहुंचने वाले भारतीय और विदेशी पर्यटक बुद्ध से जुड़े स्थलों को देखना चाहते हैं। आवागमन की कमी के कारण पर्यटक कुशीनगर तक सीमित रहकर वापस लौट जाते हैं। उन स्थलों तक नहीं जा पाते, जहाँ बुद्ध से जुड़ी धरोहर है। उन्होंने कहा कि यदि बुद्धगमन मार्ग को रेल लाइन से जोड़ दिया जाए तो पर्यटन की दृष्टि से बुद्ध स्थल महत्वपूर्ण हो जाएंगे। पर्यटन के बढ़ने से रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। प्रधानमंत्री मोदी से बुद्ध अनुयायी समेत कुशीनगर वासियों में इस बार भी उम्मीदें हैं।

नेपाल से भी आते हैं लोग

भदन्त अशोक ने कहा कि कुशीनगर से हर वर्ष लाखों पयर्टक नेपाल भ्रमण पर जाते हैं, जबकि नेपाल के लोग भी यहाँ के पयर्टक स्थलों का भ्रमण करते हैं। भारत के प्रधानमंत्री का बुद्ध जयंती के अवसर पर नेपाल ( लुम्बिनी ) भ्रमण के बाद कुशीनगर जैसे बुद्ध स्थलों में भाग लेने से रिश्ते प्रगाढ़ होंगे की प्रबल संभावना है।

पीएम ने दिखाया, भारत में सभी धर्माें का सम्मान

भिक्षु नन्दरतन ने कहा कि प्रधानमंत्री कुशीनगर को महत्व देकर विश्व को दिखा दिया कि भारत सभी धर्म के लोगों को अपने धर्म के अनुसार रहने की आजादी देता है। देश के अन्य बड़े नेताओं को भी कुशीनगर आना चाहिए।