पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सिराथू में डिप्टी सीएमओ ने फाइलेरिया पीड़ितो से की मुलाकात:लक्षणों और इलाज के बारे में दी जानकारी

सिराथूएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डिप्टी सीएमओ ने बताया, 10 साल बाद भी दिख सकते हैं लक्षण - Money Bhaskar
डिप्टी सीएमओ ने बताया, 10 साल बाद भी दिख सकते हैं लक्षण

फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम के तहत बुधवार को उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ केडी सिंह ने सिराथू ब्लॉक क्षेत्र के उदिहिंन खुर्द का निरीक्षण किया। इस दौरान डिप्टी सीएमओ ने ग्रामीणों से मुलाकात कर फाइलेरिया की दवा खाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने लोगों फाइलेरिया के लक्षण के बारे में भी बताया।

डिप्टी सीएमओ ने कहा की फाइलेरिया के लक्षण कई बार 10 साल बाद दिखते हैं। इसलिए हो सकता है कि आप संक्रमित हों और आपको यह बात पता ही न हो। इसलिए फाइलेरिया की दवा 2 साल से कम उम्र के बच्चों और गर्भवती महिलाओं को छोड़कर सभी को खानी है। उन्होंने बताया कि जिले में फाइलेरिया उन्मूलन अभियान चलया जा रहा है। यदि आप लगातार पांच वर्षों तक साल में एक बार दवा खा लेंगे तो यह बीमारी आपसे कोसों दूर हो जाएगी।

दवा खाने के बाद असामान्य लगने पर आशा को दें जानकारी

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिराथू के अधीक्षक डॉ हेमन्त विशेन ने बताया कि फाइलेरिया उन्मूलन अभियान की खासियत यह कि दवा स्वास्थ्य कार्यकर्ता के सामने ही खानी है। यदि दवा खाने के बाद कुछ असामान्य सा लगता है तो यह इस बात की गवाही है कि फाइलेरिया के परजीवी आपके शरीर में मौजूद हैं। दवा का असर शुरू होते ही असामान्य सा लगना एक सामान्य सी बात है। ऐसा होने पर सिर्फ आशा को सूचित करना है। दवा खाने के पहले अल्पाहार और पानी जरूर पी लें।

ज्यादा परिजीवी होंने पर दवा का ज्यादा प्रतिकूल प्रभाव दिखेगा

उन्होंने बताया की जिन लोगों के शरीर में फाइलेरिया के परिजीवी जितने ज्यादा होंगे दवा का प्रतिकूल प्रभाव भी उतना ही ज्यादा दिखेगा। इसमें पेट दर्द, लाल चक्कते के साथ शरीर में खुजली, चक्कर आना, कमजोरी लगना, हल्का बुखार और उल्टी होना शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...