पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कौशांबी में सिपाही की आशिकी से परेशान युवती:एसपी से बोली पीड़ित- घर में जबरन घुस कर करता है अश्लील हरकतें

कौशांबी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कौशांबी जिले में एक 22 वर्षीय युवती ने कोतवाली में एक सिपाही के खिलाफ तहरीर दी है। पीड़ित युवती का आरोप है कि सिपाही उस पर यौन शोषण का दबाव बनाता है। सिपाही अक्सर युवती को परेशान करने के लिए किसी न किसी बहाने से उसके घर पहुंच जाता है। पीड़ित की शिकायत पर एसपी ने तत्काल मामले की जांच सीओ सदर योगेंद्र नारायण कृष्ण को सौंपी है।

कौशांबी कोतवाली के एक गांव में रहने वाली 22 वर्षीय युवती ने प्रयागराज के एक गैर धर्म के युवक से विवाह कर लिया। युवती उसके साथ प्रयागराज में रहने लगी। पिछले एक साल पहले उसके भाई का सड़क हादसे में निधन हो गया। जिसकी कार्रवाई के लिए उसे थाना पुलिस के पास जाना पड़ा। पीड़ित का आरोप है कि पुलिस में तैनात एक सिपाही उसके पीछे पड़ गया। आये दिन पूछताछ के बहाने सिपाही घर आकर उसे व उसके परिवार को तंग करने लगा। कई बार उसने पीड़ित के छोटे भाई को पकड़ कर थाने में बैठा पीड़ित को थाने आकर भाई को ले जाने का दबाव बनाता था।

थाना प्रभारी से शिकायत के बाद भी हरकतें नहीं हुई बंद

पीड़ित सिपाही की हरकत से परेशान होकर अपने ससुराल चली गई। वहां भी सिपाही ने उसका पीछा नही छोड़ा। घर जाकर प्रताड़ित करता था। दो दिन पहले गांव वापस आई पीड़ित को अकेला पाकर आरोपित सिपाही ने उसने घर में घुस कर जबरदस्ती करने की कोशिश की। पीड़ित के विरोध करने पर उसके साथ मारपीट कर उसके कपड़े फाड़ दिये गए। युवती का आरोप है कि थाना पुलिस के प्रभारी से शिकायत करने पर भी सिपाही की हरकतों मे कोई कमी नहीं आई।

जल्द जांच कर सौंपी जाएगी रिपोर्ट

पीड़ित ने एसपी हेमराज मीणा के सामने पेश होकर अपनी परेशानी बताई। जिस पर एसपी ने थानेदार को तत्काल आरोपित सिपाही के खिलाफ केस दर्ज कर कानूनी कार्यवाही करने के निर्देश दिये। पुलिस अधिकारी इस मामले मे मीडिया के सवाल का जवाब देने से बच रहे है। बावजूद इसके कौशांबी पुलिस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से यह जानकारी साझा की गई कि पीड़ित की शिकायत के क्रम मे सर्किल अफसर मंझनपुर को जांच सौंपी गई है। इस संबंध मे सीओ सदर योगेंद्र नारायण कृष्ण ने बताया, उन्हे प्रकरण के संबंध मे कोई जानकारी नहीं है। जांच हेतु आदेश प्राप्त होने पर जांच के उपरांत रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...