पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57491.51-2.62 %
  • NIFTY17149.1-2.66 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486500.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)64467-0.29 %

कौशांबी में 400 साल पुराने हनुमान मंदिर पर चला बुलडोजर:6 लेन सड़क बनाने के लिए मंदिर का चबूतरा और आगे का हिस्सा तोड़ा जा रहा

कौशांबी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
6 लेन सड़क बनाने के लिए हनुमान मंदिर तोड़ा जा रहा। - Money Bhaskar
6 लेन सड़क बनाने के लिए हनुमान मंदिर तोड़ा जा रहा।

कौशांबी में राष्ट्रीय राजमार्ग के कोखराज थाना अंतर्गत कशिया पश्चिम गांव में अनादिकाल से हनुमान जी का सिद्धपीठ मंदिर सड़क किनारे स्थापित है। राष्ट्रीय राजमार्ग के फोरलेन निर्माण के चलते एक बार मंदिर के चबूतरे और आगे के हिस्से को सड़क में शामिल कर लिया गया है।

दोबारा फिर 6 लेन सड़क बनाने के चक्कर में हनुमान जी के प्राचीन सिद्धपीठ मंदिर को जेसीबी मशीन लगाकर सड़क निर्माण के ठेकेदारों द्वारा ध्वस्त कराया जा रहा है।

कई साधु संत की बनी है समाधि

इसी मंदिर परिसर में कई साधु संत की समाधि भी बनी है। सड़क निर्माण में लगे ठेकेदार साधु संत के समाधि को भी ध्वस्त कर रहे हैं। मंदिर के पुजारी प्रवीण कुमार महाराज ने ठेकेदारों को मंदिर ध्वस्त करने से मना किया, जिस पर ठेकेदारों ने पुजारी से अभद्रता की है।

ग्रामीणों में है गुस्सा

प्राचीन सिद्ध पीठ हनुमान मंदिर के पुजारी से अभद्रता की जानकारी जैसे ही आसपास के ग्रामीणों और हिंदू संगठनों को हुई, मौके पर तमाम ग्रामीण एकत्रित हो गए। बताया जाता है कि हनुमान जी का यह सिद्ध पीठ मंदिर 400 साल से अधिक पुराना है। मंदिर तोड़कर 6 लेन सड़क बनाए जाने से ग्रामीणों के बीच जबरदस्त आक्रोश व्याप्त है। फिर भी सड़क निर्माण में लगे ठेकेदारों के कारनामे का प्रशासन ने संज्ञान नहीं लिया है।

सीएम से की थी शिकायत

ग्रामीणों का कहना है कि यदि मंदिर तोड़कर सड़क बनाई गई, तो यह बात ईश्वर को अच्छी नहीं लगेगी। ईश्वर का चाबुक चला तो सड़क बनाने वाले अधिकारियों और ठेकेदारों का पूरा वंश नाश हो जाएगा। मंदिर तोड़े जाने के पूर्व इस मामले की शिकायत मंदिर के पुजारी महंत प्रवीण कुमार ने केंद्रीय मंत्री परिवहन नितिन गडकरी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के साथ जिलाधिकारी से की थी।

राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारी तोड़ रहे मंदिर

तमाम शिकायती प्रार्थना पत्रों के दिए जाने के बाद भी राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारी और ठेकेदार हनुमान जी के प्राचीन सिद्ध पीठ मंदिर को तहस-नहस करने में लगे हैं। मंदिर तोड़े जाने से विश्व हिंदू परिषद और हिंदू संगठनों में भी जबरदस्त रोष व्याप्त है। जिसका खामियाजा आने वाले विधानसभा चुनाव में सरकार को भुगतना पड़ सकता है।

खबरें और भी हैं...