पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कब्र में दफन सूरज है या रहमान:डीएम को अर्जी देकर हिंदू परिवार ने मांगी लाश, मुस्लिम परिवार पहले ही अपना बेटा बताकर चुका है अंतिम संस्कार

कौशांबी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कौशांबी के बिजलीपुर गांव में दफन एक युवक की लाश के पहचान का संकट खड़ा हो गया है। दरअसल, शव पर हिंदू और मुस्लिम परिवार दोनों दावा कर रहा है। फतेहपुर का एक हिंदू परिवार का कहना है कि कब्र में दफन उनका बेटा है, जबकि मुस्लिम परिवार ने अपना बेटा बताकर उसे पहले ही दफन चुका है। मामले में हिंदू परिवार ने कौशांबी डीएम से जांच की मांग की है।

दिल्ली हावड़ा रेलवे लाइन पार मिला था अज्ञात युवक
मामला सैनी कोतवाली के बनपूकरा गांव के समीप 11 जून को दिल्ली हावड़ा रेलवे लाइन पार मिले अज्ञात युवक के शव से जुड़ा है, जिसको सैनी कोतवाली पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हाउस में पहचान के लिए रखा था। जिसकी पहचान सिराथू के बिजलीपुर गांव निवासी साबिर ने अपने बेटे रहमान के रूप में की थी। पोस्टमार्टम के बाद मुस्लिम परिवार को लाश सौंप दी गई थी। इसके बाद परिवार ने युवक का अंतिम संस्कार मुस्लिम रीति रिवाज से किया। साबिर के मुताबिक, उनके बेटे ने परिवार से नाराज़ होकर रेल लाइन पर जाकर अपनी जान दी थी।

फतेहपुर का हिंदू परिवार कौशांबी पहुंचा।
फतेहपुर का हिंदू परिवार कौशांबी पहुंचा।

रेलवे लाइन पार मिली लाश का अंतिम संस्कार होने के 18 दिन बाद फतेहपुर जनपद के संतराज ने मंगलवार की शाम जिलाधिकारी कौशांबी सुजीत कुमार से मिलकर बिजलीपुर गांव में दफन लाश खुद के बेटे सूरज के होने का दावा कर उसे हासिल करने की मांग की। संतराज पेशे से टीचर है। उनका दावा है कि उनका बेटा नाराज़ होकर 11 जून को घर से गया था। जिसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में दर्ज है।

पुलिस द्वारा जारी तस्वीर देख कर उन्हें लाश खुद के बेटे सूरज के होने की जानकारी मिली। लेकिन कौशांबी पहुंचने पर पाता चला उनके बेटे को किसी मुस्लिम परिवार ने अपना बता उसे दफन कर दिया है। संतराज ने बताया, उनसे डीएम को अर्जी देकर जांच किए जाने की मांग की है। वह अपने बेटे की लाश का अंतिम संस्कार हिन्दू रीति से करना चाहते है।

डीएम ने जांच का दिया आश्वासन
डीएम सुजीत कुमार ने प्रकरण में जांच की बात कही है। हालाकि उन्होंने यह नहीं बताया कि लाश को कब कब्र से बाहर निकाल उसका डीएनए कराया जाएगा।

खबरें और भी हैं...