पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कानपुर में बिना लक्षण वाले निकले जीका पॉजिटिव:दिल्ली से आई रिपोर्ट में 55 में से 1 मच्छर में जीका वायरस की पुष्टि

कानपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कानपुर में दवा का छिड़काव करता नगर निगम का कर्मी।

कानपुर में जीका के मरीजों संख्या बढ़कर 108 हो गई है। इस बीच एक नई बात सामने आई है कि कई मरीज ऐसे मिले हैं। जिनमें जीका के कोई लक्षण की नहीं है। मगर, उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इस बात से डॉक्टर भी हैरान है। इधर, सीएमओ डॉ नेपाल सिंह का कहना है कि हम लोग जल्द ही इस बीमारी को कंट्रोल कर लगे और अब दिन में तीन बार फॉगिंग और छिड़काव का काम करवाएंगे।

हर घर से सैंपल भी लिए जा रहे
डॉ नेपाल सिंह ने बताया कि नेशनल इंस्टीट्यूट आफ मलेरिया रिसर्च, दिल्ली ने शहर से जांच के लिए भेजे गए 55 मच्छरों में एक में जीका वायरस की पुष्टि हुई है। उस मच्छर को जिस इलाके से पकड़ा गया था उसे हम लोग पहले ही कंटेनमेंट जोन बना चुके है। इस इलाके से हम लोग और भी मच्छरों को पकड़ कर दिल्ली जांच के लिए भेज रहे है। जिससे यह पता लगाया जा सके कि और कितने मच्छरों में यह सिरस है। पूरे इलाके में फॉगिंग और एंटी लार्वा का छिड़काव का काम बढ़ा दिया गया है। हर घर से सैंपल भी लिए जा रहे है। बुखार के रोगियों की भी तलाश की जा रही है।

कानपुर में परदेवनपुर के इस घर में पाया गया डेंगू का लार्वा।
कानपुर में परदेवनपुर के इस घर में पाया गया डेंगू का लार्वा।

डेंगू की टेस्टिंग बढ़ाई गई
CM योगी ने शनिवार शाम को टीम-9 के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जीका वायरस से संक्रमण तेजी से फैल रहा है। ऐसे में विशेष सतर्कता की जरूरत है। डेंगू की टेस्टिंग और तेजी से की जाए साथ ही और टीमों को सैंपलिंग इकट्ठा करने का आदेश। अस्वस्थ लोगों के उपचार के लिए सभी अस्पतालों में प्रबंध किए गए हैं। सीएम ने कहा कि हर एक मरीज के स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग होना बहुत जरूरी। इस बीमारी से बचाव के लिए व्यापक स्वच्छता, सैनिटाइजेशन और फॉगिंग के काम में तेजी लाना इस समय बहुत जरूरी।

जीका के सोर्स का अब तक पता नहीं
जीका के सोर्स का अभी तक दिल्ली और लखनऊ की टीमें पता नहीं लगा सकी है। जानकारों का मानना है कि यह किसी दूसरे प्रदेश से आया है।तभी जो भी संक्रमित लोग मिल रहे है उनमें इसके लक्षण नहीं दिख पा रहे है।

खबरें और भी हैं...