पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61765.590.75 %
  • NIFTY18477.050.76 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47189-1.48 %
  • SILVER(MCX 1 KG)631020.23 %
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Water Level Rising In Panka Village For 3 Days, Villagers Taking Help Of Boat To Come Out Of The Village, 50 Thousand Population Affected, Rain, Monsoon, Pandu River, Panka Village, Rafaka Nala, KDA, Kanpur

पांडु नदी में फिर आई बाढ़:कानपुर के पनका गांव समेत शहरी आबादी में भी खतरा मंडराया, बाहर आने के लिए नाव का सहारा ले रहे ग्रामीण, बर्रा-8 समेत कई इलाकों में भरा पानी

कानपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गांव के बाहर आने के लिए लोगों को नाव का सहारा लेना पड़ रहा है। लगातार पांडु नदी का जलस्तर बढ़ रहा है। - Money Bhaskar
गांव के बाहर आने के लिए लोगों को नाव का सहारा लेना पड़ रहा है। लगातार पांडु नदी का जलस्तर बढ़ रहा है।

बारिश से नदियों में उफान के बाद पांडु नदी ने भी रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। नदी किनारे बस पनका गांव में लगातार जलस्तर बढ़ रहा है। आलम ये है कि ग्रामीणों को गांव से बाहर आने-जाने के लिए नाव का सहारा लेना पड़ रहा है। बर्रा-8, वरुण विहार, गोपालपुरम, बिहारीपुरवा में जलस्तर बढ़ता जा रहा है। अगस्त महीने में पांडु नदी ने पहले भी अपना यहां रौद्र रूप दिखाया था।

तो शहर में घुस सकता है पानी

पनका गांव को भौंती-चकेरी एलिवेटेड रोड की सर्विस रोड को न्यू ट्रांसपोर्टनगर अंडरपास के आगे से जोड़ने वाला पुल भी डूब गया है। गांव के लोग घर के ग्राउंड फ्लोर को छोड़कर ऊपरी मंजिल पर रहने को मजबूर हैं। वहीं मंगलवार को सुबह से कानपुर में घने बादल बने हुए हैं। अगर मूसलाधार बारिश हुई तो इन इलाकों में मुश्किलें और बढ़ सकती हैं। क्षेत्रीय पार्षद आरती विजय गौतम ने बताया कि गांव के हालात बेहद खराब हैं। जलस्तर बढ़ा तो मुश्किलें और बढ़ जाएंगी।

बाढ़ के पानी में घिरे घर। लोग दूसरी मंजिल पर रहने को मजबूर।
बाढ़ के पानी में घिरे घर। लोग दूसरी मंजिल पर रहने को मजबूर।

अवैध कब्जों ने बढ़ाई परेशानी

साउथ सिटी से निकलने वाली पांडु नदी के किनारे अवैध कब्जे कर लिए हैं। केडीए के कई बार नोटिस देने के बाद भी लोगों ने घर खाली नहीं किए। बिहारीपुरवा, गोपालपुरम, पनका गांव और वरुण विहार पूरी तरह से खेती की जमीन पर बसे हुए हैं। सिंचाई विभाग के अधिकारी भी नोटिस देकर चुप्पी साध लेते हैं।

रफाका नाला उफनाया

पांडु नदी में पानी बढ़ने से नदी में गिरने वाला रफाका नाले में पानी बैकफ्लो हो गया। इससे रफाका नाला में भी जलस्तर बढ़ गया। बता दें कि रावतपुर से विजय नगर, दादानगर, बर्रा-7 और 8 होते हुए रफाका नाला पांडु नदी में गिरता है। नाला में पानी चढ़ा तो शहर के अंदर भी पानी भर सकता है।

खबरें और भी हैं...