पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57858.150.64 %
  • NIFTY17277.950.75 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486870.08 %
  • SILVER(MCX 1 KG)63687-1.21 %
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Tunnel Boring Machines Will Come From Lucknow And Turkey For The Construction Of Underground Metro Station, 6 Tunnels Will Be Constructed Simultaneously, Kanpur Metro, UPMRC, Lucknow Metro, Kumar Keshav, Tunnel Boring Machine, Turkey, Ganga, Gomti, Naveen Market, Chhuniganj, IIT Kanpur, Nayaganj, Kanpur

'गंगा' और 'गोमती' बनाएंगी कानपुर मेट्रो:अंडरग्राउंड स्टेशन के लिए लखनऊ-टर्की से आएंगी मशीनें, 21 मीटर नीचे बनेंगी 6 टनल

कानपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लखनऊ मेट्रो के टनल निर्माण में 'गंगा' और 'गोमती' को लगाया गया था। - फाइल फोटो।

यूपी मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (UPMRC) कानपुर मेट्रो के निर्माण के लिए तेजी से आगे बढ़ रही है। अंडरग्राउंड मेट्रो स्टेशन के निर्माण के बाद अब टनल बनाने को लेकर भी काम तेज कर दिए गए हैं। लखनऊ मेट्रो के निर्माण में यूज हुई 2 टनल बोरिंग मशीन (TBM) का नाम 'गंगा' और 'गोमती' रखा गया था। ये अभी लखनऊ में ही हैं। इन्हें कानपुर लाया जाएगा। वहीं, अन्य TBM टर्की से आएंगी। इनकी डिलीवरी जल्द शुरू होगी।कानपुर मेट्रो जमीन से 21 मीटर नीचे दौड़ेगी। इसके लिए टनल निर्माण का काम भी 21 मीटर नीचे ही होगा।

कानपुर में यूज होंगी 6 TBM
चुन्नी गंज से नयागंज, नयागंज से टांसपोर्ट नगर और सीएसए से डबल पुलिया तक अप और डाउन लाइन के अंडरग्राउंड रूट हैं। इसके लिए एक साथ 6 TBM काम करेंगी। सबसे पहले चुन्नीगंज से नयागंज के बीच टीबीएम चलेगी। क्योंकि 2024 तक अंडरग्राउंड का काम पूरा किया जाना है।

​​​कानपुर में ही होगी असेंबलिंग
कानपुर मेट्रो जमीन से 21 मीटर नीचे दौड़ेगी। इसके लिए टनल निर्माण का काम भी 21 मीटर नीचे ही होगा। TBM की असेंबलिंग एक जटिल प्रक्रिया है। जिसमें हर एक हिस्से को 250 टन की क्रेन द्वारा शॉफ्ट से नीचे ले जाना, सही जगह पर स्थिर करना और फिर आपस में जोड़ना शामिल है।​​​

लखनऊ मेट्रो का अंडरग्राउंड टनल का निर्माण। - फाइल फोटो
लखनऊ मेट्रो का अंडरग्राउंड टनल का निर्माण। - फाइल फोटो

ऑटोमैटिक है मशीन
लखनऊ मेट्रो के टनल निर्माण में जिस टीबीएम का यूज किया गया, वे फुली ऑटोमैटिक है। इन्हें GIS सिस्टम की मदद से ऑपरेट किया जाता है। लोंगिट्यूड और लैटीट्यूड का डाटा फीड करते ही मशीनें उस दिशा में खुदाई करना शुरू कर देती हैं। औसतन एक दिन में 8.4 मीटर तक टनल की खुदाई की जा सकेगी।

एक साथ अप और डाउन लाइन के लिए बनाई जाती है टनल। - फाइल फोटो
एक साथ अप और डाउन लाइन के लिए बनाई जाती है टनल। - फाइल फोटो

नवीन मार्केट से काम हुआ शुरू
नवरात्र के मौके पर कानपुर मेट्रो के अंडरग्राउंड सेक्शन के लिए नवीन मार्केट मेट्रो स्टेशन का काम भी शुरू कर दिया गया है। स्टेशन के निर्माण के लिए वॉल लगाने का काम शुरू कर दिया गया है। पहले कॉरिडोर के सेकंड सेक्शन पर चुन्नी गंज से ट्रांसपोर्ट नगर मेट्रो का संचालन अंडरग्राउंड होगा।

नवीन मार्केट से टीबीएम जाएंगी जमीन के अंदर
नवीन मार्केट में अंडरग्राउंड मेट्रो स्टेशन का निर्माण शुरू हो गया है। यहां से 2 टनल अप और डाउन लाइन के निर्माण शुरू होगा। एक साथ टीबीएम 12 मीटर की दूरी पर समानांतर चलेंगी। मेट्रो एमडी कुमार केशव के मुताबिक 3 साल में चुन्नी गंज से नयागंज के बीच निर्माण शुरू किया जाना है।

1250 करोड़ रुपए से टेंडर
नयागंज से ट्रांसपोर्ट नगर तक अंडरग्राउंड मेट्रो स्टेशनों के निर्माण के लिए ग्लोबल टेंडर कॉल किए गए हैं। जल्द ही टेक्निकल और फाइनेंशियल बिड ओपन की जाएगी। इस सेक्शन में नयागंज, कानपुर सेंट्रल स्टेशन, झकरकटी और ट्रांसपोर्ट नगर तक का कार्य किया जाएगा।

1250 करोड़ रुपए से इस सेक्शन का निर्माण किया जाना है। साल-2024 तक ये कार्य पूरा किया जाना है। वहीं ट्रांसपोर्ट नगर से नौबस्ता तक के एलिवेटेड मेट्रो के लिए टेंडर 1 नवंबर को कॉल किए जाएंगे।

खबरें और भी हैं...