पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57260.580.27 %
  • NIFTY17053.950.16 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47964-0.39 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62820-0.87 %
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • The Silver Crown And Umbrella Was Stolen From The Parmat Temple, During The Interrogation, The BP Came Under Suspicion, Then The Vicious Broke On The Strict

बीपी बढ़ते ही पकड़ में आ गया चोर:परमट मंदिर से चुराया था चांदी का मुकुट और छत्र, पूछताछ के दौरान बीपी बढ़ने पर संदेह में आया फिर सख्ती पर टूट गया शातिर

कानपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
परमट मंदिर में चोरी करने वाला पकड़ा गया उन्नाव निवासी सचिन वर्मा। - Money Bhaskar
परमट मंदिर में चोरी करने वाला पकड़ा गया उन्नाव निवासी सचिन वर्मा।

आनंदेश्वर मंदिर परमट से चांदी का मुकुट और छत्र चुराने वाले शातिर का पूछताछ के दौरान बीपी बढ़ने पर पुलिस का संदेह बढ़ गया। इसके बाद ग्वालटोली पुलिस ने और सख्ती की तो वह टूट गया और उसने चोरी की बात कुबूल कर ली। इसके बाद पुलिस ने उसके घर से चोरी का माल भी बरामद कर लिया। कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया।
गंगा किनारे और घर से बरामद किया चोरी हुआ चांदी का मुकुट और छत्र

ग्वालटोली थाना प्रभारी केके दीक्षित ने बताया कि परमट मंदिर निवासी राकेश गिरी ने मन्दिर से शनि देव महाराज का चांदी का मुकुट चोरी होने की एफआईआर दर्ज कराई थी। अगले ही दिन मंदिर में दूसरी चोरी हुई और गणेश घाट परमट मंदिर निवासी रीता मिश्रा ने मंदिर परिसर में बने राणी सती दादी मन्दिर से राणी सती माता का चांदी का छत्र चोरी कर ले जाने की एफआईआर दर्ज कराई थी। मामले की जांच कर रही ग्वालटोली पुलिस को एक संदिग्ध व्यक्ति की जानकारी दी थी। पुलिस ने दबिश देकर ओरास जिला उन्नाव निवासी सचिन वर्मा को मंदिर के पास से ही हिरासत में लिया था। वह परमट निवासी अपनी बहन के यहां रुका हुआ था। थाना प्रभारी की मानें तो हिरासत में लेते ही सचिन का बीपी बढ़ गया। संदेह होने पर और सख्ती की तो सचिन टूट गया और उसने चोरी की वारदात को कुबूल कर दिया। इसके बाद पुलिस ने दबिश देकर गंगा के पास और शातिर सचिन के घर पर छिपाया गया चांदी का छत्र और मुकुट बरामद कर लिया।
भक्त की सूचना और पुलिस की सक्रियता से पकड़ा गया चोर
थाना प्रभारी ने बताया कि एक मंदिर के एक भक्त ने संदिग्ध व्यक्ति के होने की जानकारी दी थी। पुलिस संदेह के आधार पर घेराबंदी की और मंदिर परिसर से ही छह लोगों को हिरासत में लिया था। पुलिस को देखते ही सचिन ने चांदी का मुकुट गंगा किनारे छिपा दिया था। लेकिन पूछताछ के दौरान उसका बीपी बढ़ने पर पुलिस का शक यकीन में बदल गया और सख्ती करने पर सचिन ने चोरी की बात कुबूल कर ली।

खबरें और भी हैं...