पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Seal Opened After 36 Hours On The Order Of High Court, Municipal Corporation Will Have To Pay Rs 26 Crore Dues Of House Tax In 15 Days, Kanpur Mall, Z Square, High Court, Kanpur Nagar Nigam, Bada Chauraha, Kanpur

जेड स्क्वॉयर मॉल की खुली सील:हाईकोर्ट के आदेश पर 36 घंटे बाद खोली गई सील, 15 दिन में चुकाना होगा नगर निगम को हाउस और वाटर टैक्स का बकाया

कानपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नगर निगम ने देर शाम सभी 6 गेटों की सील को खोल दिया है। - Money Bhaskar
नगर निगम ने देर शाम सभी 6 गेटों की सील को खोल दिया है।

कानपुर के सबसे शॉपिंग मॉल जेड स्क्वॉयर की सील हाईकोर्ट के आदेश पर 36 घंटे बाद खुल गई। इससे नगर निगम पूरी तरह बैकफुट पर आ गया है। जोनल प्रभारी-1 राजेश गुप्ता ने बताया कि मॉल प्रशासन ने नगर निगम कार्रवाई के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील की थी। इस पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने नगर निगम को सील खोलने के साथ ही मॉल प्रशासन को 15 दिन में पूरा बकाया चुकाने के आदेश दिए हैं। वहीं शाम को मॉल खुलते ही घूमने वाले लोग भी पहुंचने लगे।

53 लाख का दिया एफिडेविट
नगर आयुक्त शिवशरणप्पा जीएन ने बताया कि हाईकोर्ट के आदेश पर मॉल की सील खोल दी गई है। सभी 6 गेट से सील भी हटा दी गई है। मॉल प्रशासन द्वारा कोर्ट में 53 लाख रुपए जमा करने का एफिडेविट दिया है। बता दें कि बुधवार सुबह नगर निगम की टीम पुलिस फोर्स के साथ बड़ा चौराहा पहुंची थी और शहर के सबसे बड़े शॉपिंग मॉल जेड स्क्वॉयर को सील कर दिया था। मॉल के ऊपर हाउस टैक्स और वाटर टैक्स मिलाकर करीब 26 करोड़ रुपए बकाया है। कई नोटिस देने के बाद भी मॉल के मैनेजिंग डायरेक्टर ताहिर हुसैन ने एक भी पैसा जमा नहीं किया। इसके बाद ये एक्शन नगर निगम ने लिया था।

हाउस और वाटर टैक्स का बकाया
मॉल के ऊपर करीब हाउस टैक्स का 13.36 करोड़ रुपए बकाया है। इसमें 10.44 करोड़ रुपए टैक्स और 2.91 करोड़ रुपए ब्याज है। इतना ही टैक्स जलकल और सीवर टैक्स का 12.65 करोड़ रुपए बकाया है। कई नोटिस देने के बाद भी टैक्स नहीं जमा कराया गया था। इसके बाद नगर निगम अधिनियम 1959 के तहत सीलिंग की कार्रवाई की थी।

पहले भी हो चुका है सील
इससे पहले 1 जनवरी 2021 को भी मॉल पर हाउस टैक्स न जमा करने पर महापौर प्रमिला पांडेय ने ताला डाल दिया था। तब करीब 1 करोड़ रुपए मॉल द्वारा दिया गया था। इससे पहले करीब 2 साल पहले भी इस तरह की कार्रवाई नगर निगम ने की थी। मॉल करीब 3 साल का हाउस टैक्स बकाया है। कार्रवाई के दौरान अपर नगर आयुक्त रोली गुप्ता, प्रवर्तन अधिकारी भी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...