पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Rape Victim's Sister, Uncle And Relatives Including 150 People Rioted, FIR In Serious Sections Including 7 CL, Action Against Those Who Hit The Road To Get Justice For Their Daughter

कानपुर...रेप पीड़िता की बहन-चाचा पर बलवा का केस:परिवार वाले बोले- अब अपनी जमानत कराएं या मर चुकी बेटी के लिए इंसाफ की लड़ाई लड़ें? डेयरी मालिक ने अपार्टमेंट से दे दिया था धक्का

कानपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कानपुर की पुलिस ने रेप के बाद अपार्टमेंट की 10वीं मंजिल से फेंकी गई युवती के चाचा और उसकी बहन पर ही केस दर्ज कर दिया है। बीते गुरुवार को परिवार ने बिल्हौर में जीटी रोड पर धरना दिया था। इन लोगों ने सड़क जाम करने के साथ ही हंगामा भी किया था। मौके पर पहुंचे पुलिस अफसरों ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ दिया था। बाद में पुलिस सुरक्षा में शव का अंतिम संस्कार कराया गया था।

बिल्हौर पुलिस की FIR में 150 लोग हैं। इन पर बलवा, 7 सीएलए (7 लॉ क्रिमिनल एमेंडमेंट एक्ट), सरकारी काम में बाधा, पुलिस पर हमला समेत अन्य गंभीर धाराएं लगाई गई हैं। पुलिस ने अब कार्रवाई करने की तैयारी कर ली है। इससे पीड़ित परिवार और सहम गया है।

बहन को इंसाफ दिलाऊं या अपनी जमानत कराऊं
रेप पीड़िता की बहन ने शुक्रवार को बताया अब बहन को इंसाफ दिलाने के लिए पैरवी करूं कि पहले अपनी जमानत कराऊं। रिश्तेदारों ने भी मदद से हाथ खींच लिए हैं। कोर्ट ने अगर उन्हें जमानत नहीं दी, तो पूरे केस की पैरवी करने वाले उनके चाचा को जेल जाना पड़ेगा। उधर, एफआईआर की जानकारी उन्होंने अपनी सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता सीमा समृद्धि को दी है। उन्होंने कानपुर में मौजूद अपने सहयोगी वकीलों को परिवार की मदद में लगाया है।

पीड़िता की बहन और चाचा समेत 150 लोगों पर दरोगा की तहरीर पर दर्ज हुई एफआईआर की कॉपी।
पीड़िता की बहन और चाचा समेत 150 लोगों पर दरोगा की तहरीर पर दर्ज हुई एफआईआर की कॉपी।

बिल्हौर थाना प्रभारी ने झूठ बोला
मामले की जानकारी लेने पर बिल्हौर थाना प्रभारी अनूप निगम ने झूठ बोल दिया। उन्होंने कहा कि पीड़िता की बहन और चाचा के खिलाफ एफआईआर नहीं हुई है। जबकि एसपी आउटर ने एफआईआर दर्ज होने की बात कही। दैनिक भास्कर ने जब एफआईआर कॉपी की पड़ताल की, तो थानेदार का झूठ सामने आ गया। एफआईआर में पीड़िता की बहन और चाचा नामजद हैं।

दरअसल, कल्याणपुर के गुलमोहर रेजीडेंसी अपार्टमेंट में 21 सितंबर की देर शाम डेयरी कारोबारी ने बिल्हौर के एक गांव की रहने वाली अपनी पीए से रेप के बाद 10वीं मंजिल से फेंक कर उसकी हत्या कर दी थी। मॉडल डेयरी के मालिक प्रतीक को अगले दिन कल्याणपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

रेप पीड़िता के परिवार को इंसाफ दिलाने के लिए सड़क पर उतरे थे सैकड़ों लोग।
रेप पीड़िता के परिवार को इंसाफ दिलाने के लिए सड़क पर उतरे थे सैकड़ों लोग।

इन लोगों के खिलाफ हुई नामजद एफआईआर सपा नेत्री रचना सिंह के साथ ही प्रदीप कुशवाहा, विशाल त्रिपाठी, दिलीप कटियार, सुधीर पाल, पंकज सिंह, प्रशांत उर्फ सत्तू, प्रफुल्ल कटियार, विपुल कटियार, गोविंद, सुरजीत, जयदीप कटियार, अमित, मनोज विशाल, अतुल कटियार, शैलेंद्र कटियार, अवधेश, गगन सिंह, रोमल कटियार, रौनक, राजेश पाल, मुस्कान, लल्लन, कंचन कुशवाहा, गौरव कुशवाहा, राजीव कटियार, विनोद, प्रेम सागर, अनिकेत कमल, छोटेलाल, प्रदीप, संकेत, प्रमोद, पप्पू, दुर्गेश, रवीश, बिरजू, लल्ला, अमित यादव, आशीष कटियार, रवीश गौतम, महमूद अली समेत 90 अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है। मदद करने वाले रिश्तेदारों ने पीछे खींचे कदम एफआईआर दर्ज होने की जानकारी मिलने के बाद रिश्तेदारों ने भी अब पीड़ितों का साथ छोड़ दिया है। पीड़ित परिवार का कहना है कि एक तो बहन की रेप के बाद हत्या हो गई और अब पुलिस की प्रताड़ना ने रिश्तेदारों को भी दूर कर दिया है। उन्होंने कहा कि थानेदार के खिलाफ कार्रवाई के लिए आईजी और एडीजी से मिलेंगे।

खबरें और भी हैं...