पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रंजिश में डॉक्टर को मारी थी गोली:दूसरे दिन भी अनवरगंज पुलिस के हाथ खाली, हत्या के डर से घर में कैद हुए डॉक्टर

कानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घायल डॉ. नसीम ने आरोपियों के खिलाफ अनवरगंज थाने में दर्ज कराई हत्या के प्रयास की एफआईआर। - Money Bhaskar
घायल डॉ. नसीम ने आरोपियों के खिलाफ अनवरगंज थाने में दर्ज कराई हत्या के प्रयास की एफआईआर।

कानपुर के डिप्टी पड़ाव में डॉक्टर पर जानलेवा हमला करने के मामले में अनवरगंज थाने की पुलिस के दूसरे दिन भी हाथ खाली हैं। गोली मारकर डॉक्टर की हत्या करने की कोशिश करने वाले आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है, लेकिन कोई सुराग नहीं लगा सकी।

हत्या के डर से डॉक्टर अपने क्लीनिक नहीं गए और घर में कैद हैं। डॉक्टर का कहना है कि गोली मारने वाले बदमाशों की अरेस्टिंग के बाद ही वह घर से निकलेंगे। पुरानी रंजिश के चलते शातिर अपराधी ने उनके ऊपर जानलेवा हमला किया है।

हमले के बाद मौके पर जांच करती अनवरगंज थाने की पुलिस।
हमले के बाद मौके पर जांच करती अनवरगंज थाने की पुलिस।

कार के शीशे में लगी थी गोली
कोहना निवासी डॉ. नसीम आलम का डिप्टी पड़ाव पर क्लीनिक है। मंगलवार रात 10 बजे वह घर जा रहे थे। आरोप है कि कार में बैठे ही थे तभी इलाके के शातिर अपराधी अमजद ने ताबड़तोड़ गोलियां मारते हुए जानलेवा हमला कर दिया। हत्यारोपी ने डॉ. नसीम कनपटी पर निशाना लगाकर गोली मारी थी, लेकिन कार के शीशे ने उन्हें बचा लिया और गोली बगल से निकल गई।

रंजिश में किया था जानलेवा हमला
पूछताछ के दौरान उन्होंने पुलिस को बताया कि दो युवक आए थे उनमें से एक ने फायर किया था। पूछताछ में डॉक्टर ने शाह बिल्डिंग स्थित फ्लैट को लेकर विवाद की बात बताई। यह भी सामने आया है कि 2019 में हुए विवाद को लेकर उन्होंने शातिर अपराधी अमजद के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। इसी रंजिश में अमजद ने उनके ऊपर जानलेवा हमला किया है।

एसीपी अनवरगंज अकमल खान ने बताया कि डॉक्टर की तहरीर पर आरोपी अमजद समेत अन्य के खिलाफ हत्या के प्रयास की एफआईआर दर्ज कर ली गई है। उसकी तलाश में पुलिस की कई टीमों को लगाया गया है। अरेस्टिंग के बाद ही मामले का खुलासा हो सकेगा।

थानेदार से लेकर डीसीपी पर लापरवाही का आरोप
पीड़ित डॉ. नसीम ने आरोप लगाया है कि पुलिस पूरे मामले में लापरवाही कर रही है। एफआईआर दर्ज करके शांत बैठ गई है। दूसरे दिन भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। अगर अरेस्टिंग नहीं हुई तो जल्द ही पुलिस कमिश्नर से मिलकर मामले में तेजी से कार्रवाई की अपील करेंगे।