पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • National Vice President, Chief Minister, State President And Deputy CM Will Also Be Present Along With The National President Of BJP. CM Yogi Adityanath, Booth Sammelan, BJP, Nirala Nagar Ground, JP Nadda, Keshav Prasad Maurya, Jaswant Nagar Seat, Kannauj Vidhansabha, Kanpur

नड्‌डा ने कानपुर में BJP दफ्तर का उद्धाटन किया:बोले- कांग्रेस में कार्यकर्ता ताली बजाने के लिए, प्रियंका का जवाब- अस्पताल की एक ईंट तक तो रख नहीं पाए

कानपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा ने आज कानपुर में बुंदेलखंड क्षेत्रीय कार्यालय का उद्घाटन किया। नड्‌डा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में आगे बढ़ने के लिए एक परिवार में पैदा होना पड़ता है। बाकी कार्यकर्ता तालियां बजाने के लिए जोड़े जाते हैं, बाकी पार्टियों का भी यही हाल है। भाजपा में एक साधारण कार्यकर्ता नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बन सकता है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भाजपा पर निशाना साधा है।

प्रियंका गांधी ने कहा कि खराब स्वास्थ्य सुविधाओं की वजह से कानपुर की जनता ने कोरोना के दौरान बहुत कष्ट झेले थे। लेकिन भाजपा की प्राथमिकता देखिए। अपना भव्य कार्यालय तैयार कर लिया, मगर जनता के लिए अस्पताल की एक ईंट भी नहीं रखी। जनता सब देख रही है।

कानपुर में बुंदेलखंड क्षेत्रीय कार्यालय। इसे अत्याधुनिक बनाया गया है।
कानपुर में बुंदेलखंड क्षेत्रीय कार्यालय। इसे अत्याधुनिक बनाया गया है।

हमारी विचारधारा राष्ट्र, अन्य की वंशवाद
जेपी नड्डा ने कहा कि भाजपा को छोड़कर किसी भी पार्टी की कोई विचारधारा नहीं है। हमारी विचारधारा राष्ट्रवाद है, अन्य पार्टियों की वंशवाद है, हमारी विचारधारा राष्ट्रवाद है, उनकी विचारधारा खुद का विकास है। अपने छात्र जीवन को याद करते हुए नड्‌डा ने कहा कि पहले हमारे राजनीतिक मित्र सिगरेट का छल्ला बनाते हुए कहते थे की एबीवीपी में क्या रखा है? आज वह दूसरी पार्टियों में रहकर कहते हैं हम तो फंस गए।

जेपी नड्डा ने कहा कि कि सरकार बनने के साथ ही नरेंद्र मोदी ने कहा था कि हमारे कार्यकर्ताओं के कार्यालय होना चाहिए। आज पूरे देश में भाजपा के 432 कार्यालय खोल चुके हैं। यूपी में 62 कार्यालयों का उद्घाटन हो चुका है। 7 दिसंबर तक साथ और कार्यालय बनकर तैयार हो जाएंगे।

नड्डा ने कार्यालय और ऑफिस के अंतर को समझाते हुए कहा कि ऑफिस 10 से 5 का होता है, जबकि कार्यालय 5 बजे के बाद शुरू होते हैं। कार्यालयों से संस्कार और विचार लेकर जनमानस तक पहुंचाएं। पहले कार्यकर्ताओं के लिए कोई बैठने का स्थान नहीं था। चाय की दुकान और रेहड़ी के आस-पास बैठकर कार्यकर्ता चर्चा करते थे अब उनके लिए ऑफिस बन गया है।

गुरुद्वारा नामदेव में टेका मत्थ, सीएम की चुप्पी पर चर्चा

जेपी नड्‌डा ने गुरु नामदेव गुरुद्वारे में मत्थ टेका।
जेपी नड्‌डा ने गुरु नामदेव गुरुद्वारे में मत्थ टेका।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राधा मोहन सिंह ने सबसे पहले किदवई नगर स्थित गुरु नामदेव गुरुद्वारे में मत्था टेका। जेपी नड्‌डा ने कहा कि गुरु के चरणों में हम आए हैं, उनका आशीर्वाद लेने आए हैं। यह सौभाग्य है कि ऐसे महान गुरु के नाम पर गुरुद्वारा बना है, ये हमारे लिए प्ररेणा और आदर्श का मार्ग भी है। मैं भाजपा का सिपाही होने के नाते गुरु नामदेवजी के चरणों में शीश झुकाते हुए इस बात को गौरव के साथ कह सकता हूं, जो काम सिख समुदाय और सिख भाईयों के लिए हमारे प्रधानमंत्री ने किया, वो किसी ने नहीं किया है।

इस दौरान सीएम ने कोई संबोधन नहीं किया।कार्यक्रम खत्म होने के बाद सिख समुदाय के बीच इस बात की चर्चा रही कि आखिर प्रदेश के मुखिया एक गुरुद्वारे में आते हैं और सिख समुदाय के बीच शामिल होते हुए। इसके बाद भी उन्होंने कोई संबोधन क्यों नहीं किया।

बुंदेलखंड क्षेत्र की 52 सीटों पर मंथन आज

जेपी नड्‌डा यहां कानपुर-बुंदेलखंड क्षेत्र की 52 सीटों पर जीत का परचम फहराने के लिए मंथन करने पहुंचे हैं। निराला नगर मैदान में राष्ट्रीय अध्यक्ष बूथ अध्यक्षों को संबोधित करेंगे। इसमें 17 जिला इकाइयों से 20 हजार बूथ अध्यक्ष शामिल होंगे। यह सम्मेलन कानपुर के लिए खास महत्वपूर्ण है। क्योंकि कानपुर बुंदेलखंड क्षेत्र की 52 विधानसभा सीटों में सबसे ज्यादा तीन सीटें कानपुर में ही बीजेपी हार चुकी है। पुरानी मौरंग मंडी स्थित कानपुर-बुंदेलखंड के क्षेत्रीय कार्यालय का उद्घाटन भी होगा।

5 हारी सीटों पर फोकस

कानपुर-बुंदेलखंड की 52 विधानसभा सीटों में से बीजेपी कानपुर छावनी, सीसामऊ, आर्यनगर, जसवंत नगर और कन्नौज विधानसभा सीटें हार गई थीं। इसलिए कोशिश की जा रही है कि इन विधानसभा के सभी बूथ अध्यक्ष अनिवार्य रूप से शामिल हों। 52 विधानसभा सीटों पर 254 मंडल हैं। हर मंडल में करीब 16 पदाधिकारी हैं और 1 मंडल में 80 से 100 के करीब बूथ हैं। करीब 20 से 22 हजार बूथ अध्यक्ष बैठक में शामिल होंगे।

खबरें और भी हैं...