पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Mining Mafia Dug Many Villages In Connivance With Police And Administrative Officers, 3 JCBs, 14 Dumpers And 4 Tractors Left From The Police Station

कानपुर...साढ़ में मानकों को ताक पर रखकर खनन:JCB लगाकर छलनी कर दिए कई गांव, MLA का आरोप- पुलिस की माफिया संग मिलीभगत

कानपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
साढ़ थानाक्षेत्र के सचौली गांव में खनन करती हुई जेसीबी। - Money Bhaskar
साढ़ थानाक्षेत्र के सचौली गांव में खनन करती हुई जेसीबी।

कानपुर में खनन माफिया का सक्रिय है। शनिवार रात भाजपा विधायक अभिजीत सिंह सांगा की शिकायत पर पुलिस और प्रशासनिक अफसरों ने छापेमारी करके कई जेसीबी और डंपर पकड़े। लेकिन इसके कुछ देर बाद ही थाने से छोड़ दिए गए। अब पूरे मामले की जांच की जा रही है। आखिर किसके नाम से खनन की अनुमति थी और कितनी जमीन खोद डाली। वहीं, विधायक ने चिरला गांव पुलिस और प्रशासनिक अफसरों की साठगांठ से खनने का आरोप लगाया है।

भाजपा MLA सांगा की शिकायत पर हुई थी छापेमारी
मामला साढ़ थानाक्षेत्र के चिरला गांव का है। विधायक की शिकायत पर शनिवार रात को साढ़ पुलिस ने छापेमारी की। मौके से 3 जेसीबी, 14 डंपर और 4 ट्रैक्टर धड़ल्ले से खनन करते मिले। पुलिस ने मौके से खनन माफिया राजन सिंह को हिरासत में भी लिया। लेकिन थाने ले जाकर पूछताछ के बाद खनन माफिया और सभी गाड़ियां छोड़ दी गईं।

जांच में पता चला कि राजन सिंह ने नाम से खनन करने का कोई अनुमति नहीं है। उसने अपने साले के नाम से खनन की अनुमति करा रखी है, लेकिन इसके बाद भी मानकों को ताक पर रखकर कई गुना ज्यादा खनन करके पूरे गांव को छलनी कर दिया।

खनन माफिया राजन सिंह।
खनन माफिया राजन सिंह।

जांच में DM, पुलिस बोली- तहरीर मिलने पर FIR
अब डीएम के आदेश पर प्रशासनिक अफसर और खनन विभाग पूरे मामले की जांच कर रहा है। साढ़ थाना प्रभारी रवींद्र सिंह ने बताया कि प्रशासनिक अफसर या खनन विभाग से तहरीर मिलने पर FIR दर्ज होगी। मामले की जांच संबंधित विभाग की ओर से की जा रही है।

जिला बदर और भू-माफिया की लिस्ट में शामिल है खनन माफिया
पुलिस की जांच में पता चला कि खनन माफिया राजन सिंह पुराना अपराधी है। कई सालों से खनन में लिप्त है। उसके खिलाफ आधा दर्जन थानों में 10 से ज्यादा FIR दर्ज हैं। इतना ही नहीं वह जिला बदर होने के साथ ही भू-माफिया की सूची में भी नामजद है। इसके बाद भी खुले आम शहर में चौतरफा अवैध रूप से धड़ल्ले से खनन कराता है।

चिरला गांव में खनन करती जेसीबी मशीन।
चिरला गांव में खनन करती जेसीबी मशीन।

खनन माफिया की पत्नी है ग्राम प्रधान
खनन माफिया राजन सिंह की पत्नी गीता महाराजपुर के नागापुर से ग्राम प्रधान है। उसकी पत्नी नाम मात्र की प्रधान है, लेकिन पूरी प्रधानी राजन सिंह ही चलाता है। प्रधानी के रसूख और सत्ता के संरक्षण के चलते जिला बदर होने के बाद भी कानपुर में रहकर अवैध रूप से खनन कराता है।

मजदूरों से खुदाई की थी अनुमति, JCB लगाकर कई गांव कर दिया छलनी
खनन निरीक्षक दिनेश कुमार ने बताया कि रविवार को खनन स्थल का निरीक्षक किया है। राजस्व टीम द्वारा स्थल की वास्तविकता की जांच कराकर अवैध खनन भूमि का रक्बा व अन्य विधिक कार्यवाही कराई जा रही है। प्राथमिक जांच के मुताविक भूमिधरी जमीन में मजदूरों से निजी कार्य हेतु का परमीशन लिया गया था। लेकिन जेसीबी मशीन से डम्पर लगाकर अवैध तरीके से खनन किया जा रहा था।

खबरें और भी हैं...