पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57684.791.09 %
  • NIFTY17166.91.08 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47590-0.92 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61821-0.24 %
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Rajya Sabha MP Brijlal Comment Over Akhilesh Yadav In Kanpur: Cases Of Terrorists Are Taken Back In SP Government, Akhilesh Is Biggest Helper Of Terrorists

'सपा आतंकियों की पालनहार, अखिलेश सबसे बड़े मददगार':कानपुर में राज्यसभा सांसद बृजलाल बोले- सपा सरकार में वापस लिए जाते हैं आतंकियों के केस, समाज और देश में भय का माहौल

कानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राजसभा सांसद बृजलाल कानपुर के एक कार्यक्रम में प्रेस वार्ता करते हुए सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर जमकर बरसे। - Money Bhaskar
राजसभा सांसद बृजलाल कानपुर के एक कार्यक्रम में प्रेस वार्ता करते हुए सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर जमकर बरसे।

विधानसभा चुनाव के नजदीक आते ही राजनीतिक दलों में उठा-पटक जारी है। सोमवार को भाजपा के एक कार्यक्रम में भाग लेने राज्यसभा सांसद बृजलाल कानपुर पहुंचे। यहां समाजवादी पार्टी(सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर जमकर बरसे।

सांसद बृजलाल ने अखिलेश पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि वे आतंकियों के सबसे बड़े मददगार हैं। जब भी सत्ता में आते हैं तो आतंकियों के केस वापस ले लेते हैं। इससे पुलिस बल और सुरक्षा एजेंसियों के मनोबल टूटते हैं। समाज और देश में भय का वातावरण बनता है। बता दें, इससे पहले भी बृजलाल इस तरह के आरोप सपा मुखिया पर लगा चुके हैं।

सपा आतंकियों की पालनहार
सांसद ब्रजलाल ने कहा कि अखिलेश यादव तुष्टिकरण के चलते आतंकवादियों के बड़े मददगार बन चुके हैं। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव न सिर्फ आतंकियों की मदद करते हैं, बल्कि सत्ता में आने पर उन पर लगे केस तक वापस लेते है। उन्होंने कहा कि सपा आतंकियों को पालने और पोषण का कार्य करती आ रही है।

अपराधी और आतंकी से प्रेम से टूटता है पुलिस का मनोबल
बृजलाल ने कहा कि रामपुर में सीआरपी पर अटैक हुआ था। जिसमें 7 जवान मारे गए थे। उस समय मैं ही एडीजी लॉ एंड ऑर्डर था। लश्कर-ए-तैयबा का संस्थापक हाफिज सईद की गिरफ्तारी हमारे नेतृत्व में हुई थी। उस वक्त पाकिस्तानी फिदायीन वाला केस अखिलेश यादव सरकार ने वापस ले लिया था। बाद में कोर्ट ने उसकी अनुमति नहीं दी थी। उसके बाद चारों को फांसी की सजा हो गई थी।

सांसद बृजलाल ने बताया कि इसी तरह कचहरी ब्लास्ट केस, लखनऊ, फैजाबाद और अयोध्या के तीनों केसों को अखिलेश ने वापस कर दिया था। बृजलाल ने दावा किया कि सपा सरकार ने 14 आतंकियों के केस वापस लिए थे। जबकि बाद में अदालत ने सभी केसों में आतंकियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। उन्होंने आरोप लगाया कि अखिलेश सरकार ने उनके ऊपर भी 18 मई 2013 को बाराबंकी कोतवाली में मर्डर का मुकदमा दर्ज कराया था।

खबरें और भी हैं...