पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

CSJMU और HBTU प्रबंधन परीक्षा कराने पर अड़ा:कल से शुरू होनी है परीक्षा, स्टूडेंट ने किया विरोध, क़ई छात्र है कोरोना पॉजिटिव

कानपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छत्रपति शाहू जी महाराज - Money Bhaskar
छत्रपति शाहू जी महाराज

परीक्षाओं को लेकर शहर के दो बड़े विश्वविद्यालयों में घमासान मचा गया है। कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए छत्रपति शाहू जी महाराज में जहां छात्र लगातार वीसी से परीक्षाओं को ‌पोस्टफोन करने की मांग कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ हरकोर्ट बटलर टेक्निकल विवि के छात्र 17 जनवरी से होने वाली ऑफलाइन परीक्षाओं के विरोध में आ गए है। दोनों ही विश्वविद्यालयों से करीब 80 फीसदी छात्रों ने परीक्षा नहीं देने के मूड का मूड बना लिया यही।

छात्रों का मूड खऱाब...
दोनों ही विश्वविद्यालयों के छात्रों का कहना है कि लगातार छात्र पॉजिटिव होने के बाद भी परीक्षाएं स्थगित नहीं की जा रही है। वहीं ‌विवि प्रशासन ने सख्ती दिखाते परीक्षा कराने की बात कही है। एचबीटीयू के वीसी ने साफ कहा है कि परीक्षा न देने वाले छात्रों को अनुपस्थित माना जाएगा। हालांकि प्रशासन ने 23 जनवरी तक स्कूल कॉलेज बंद करने का आदेश भी दिया है।

सीएसजेएमयू में आज होगा फैसला...
सीएसजेएमयू में 24 जनवरी से ग्रेजुएशन की परीक्षाएं होनी है और 25 जनवरी से मेडिकल परीक्षाओं का शेड्यूल तय है। मेडिकल छात्र लगातार वीसी को पत्र लिखकर परीक्षाओं को निरस्त करने की मांग कर रहे हैं। छात्रों का कहना है कि कई छात्र और शिक्षक पॉजिटिव हैं। संक्रमण भी लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में परीक्षा कराना काफी खतरनाक साबित हो सकता है। वहीं, ‌विवि में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ा है।

वीसी से लेकर कई अधिकारी पॉजिटिव...
वीसी से लेकर कई अधिकारी भी पॉजिटिव हैं। विवि प्रशासन सोमवार को मीटिंग लेकर अपना फैसला देगा। माना जा रहा है कि परीक्षाएं स्थगित हो सकती हैं। विवि वीसी प्रो. विनय कुमार पाठक ने कहा कि छात्रों का अहित नहीं होगा। सोमवार को बैठक के बाद ही परीक्षाओं के संदर्भ में कुछ कहा जा सकता है।

एचबीटीयू में छात्र‌-वीसी आमने सामने...
आपको बता दें एचबीटीयू में छात्र और वीसी आमने सामने हो गए है। यहां सोमवार से बीटेक अंतिम वर्ष की सेमेस्टर परीक्षाएं शुरू हो रही हैं। छात्रों का बड़ा वर्ग परीक्षा के खुले विरोध में हैं। छात्रों ने अपने व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से परीक्षा न देने का फैसला किया है। छात्रों का आरोप है कि विवि की ओर से सभी छात्रों की जांच तक नहीं हुई। छात्र प्राइवेट पैथालॉजी में जांच करा रहे हैं। कई छात्रों के पॉजिटिव आने के बाद भी विवि प्रशासन परीक्षा स्थगित नहीं कर रहे हैं। हालांकि इसके विरोध में छात्रों ने बीते दिनों विवि में हंगामा भी किया था।

छात्रों की मनमानी नहीं चलने दूंगा...
वीसी प्रो शमशेर का कहना कि छात्रों की मनमानी नहीं चलेगी। सोमवार से परीक्षाएं अपने तय समय पर ही होंगी। जो छात्र कोरोना पॉजिटिव हैं, या उनके परिवार में कोई संक्रमित हैं। केवल उन्हीं छात्रों की परीक्षाएं दोबारा होंगी। अन्यथा सभी छात्रों को समय पर परीक्षा देने आना पड़ेगा। अगर छात्र नहीं आते हैं तो उनको अनुपस्थित मार्क किया जाएगा। उनकी बैक लगेगी।