पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Devotees Performed Dhunuchi Dance To Worship Mother, Kumari Worship Will Be Done In Navami Today, Kanpur Durga Mahotsav, Durga Puja, Ramlala Mandir, Rawatpur, Armapur Estate Durga Puja, Kanpur

दुर्गा पंडालों में उमड़ा आस्था का सैलाब:मां की आराधना के लिए भक्तों ने किया धुनुची नृत्य, नवमी में आज होगा कुमारी पूजन

कानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अष्टमी के मौके पर मां दुर्गा के दर्शन के लिए पूजा पंडालों में देर रात तक श्रद्धालु जुटे रहे। वहीं भक्तों ने धुनुची नृत्य कर मां दुर्गा की आराधना की। आज विजयादशमी नवमी के दिन सुबह साढ़े 11 बजे के शुभ मुहूर्त से मां दुर्गा के रूप में कन्या का पूजन किया जाएगा।

साउथ दुर्गा पूजा पंडाल में मां की आराधना के लिए जुटे भक्त।
साउथ दुर्गा पूजा पंडाल में मां की आराधना के लिए जुटे भक्त।

घर से व्यंजन लाकर लगाया भोग
नवरात्रि में अष्टमी और नवमी तिथि का खास महत्व होता है। सोमवार को अष्टमी पर दुर्गा पूजा पंडालों में संधि पूजन कर मां की आराधना की गई। अष्टमी तिथि पर पूजन का शुभ मुहूर्त शाम 4 बजकर 37 मिनट पर शुरू होते ही मां दुर्गा की आराधना शुरू की गई। बंगाली समाज की महिलाओं ने तमाम तरह के व्यंजन घर से लाकर मां को भोग लगाया।

अष्टमी के मौके पर मां को प्रसन्न करने के लिए युवाओं ने भी किया धुनुची नृत्य।
अष्टमी के मौके पर मां को प्रसन्न करने के लिए युवाओं ने भी किया धुनुची नृत्य।

पंडालों में हो रहे भव्य आयोजन
शहर में अर्मापुर, एबी विद्यालय, डीएवी लॉन, कालीबाड़ी मंदिर, स्वरूप नगर में दुर्गा पूजा के बड़े आयोजन होते हैं। यहां आज की विशेष पूजा के लिए सुबह से ही तैयारियां शुरू हो गई हैं।

मोतीझील लॉन में सेंट्रल सर्बोजन दुर्गा पूजा पंडाल में देर रात दर्शन के लिए जुटे भक्त।
मोतीझील लॉन में सेंट्रल सर्बोजन दुर्गा पूजा पंडाल में देर रात दर्शन के लिए जुटे भक्त।

शहर में यहां हो रहे हैं बड़े आयोजन
श्रीश्री बारवारी दुर्गा पूजा माल रोड के संयुक्त सचिव अमित कुमार मित्रा बताते हैं, मालरोड का दुर्गा पंडाल शहर के प्राचीन पंडालों में से एक है। आज संधि पूजा का विशेष महत्व होता है। मालरोड स्थित एबी विद्यालय, किदवईनगर, फूलबाग, मोतीझील, श्याम नगर, अर्मापुर, बाबूपुरवा, काकादेव, डीएवी लॉन, मोतीझील, चकेरी के कालीबाड़ी मंदिर, शास्त्रीनगर, पांडुनगर, OEF, सूटरगंज, कृष्णा नगर से लेकर शहर के बाहरी हिस्सों तक में पंडाल सजते हैं और महामाई के जयकारे गूंजते हैं।

पूजा पंडालों में हादसे के बाद डीएम और पुलिस कमिश्नर ने साउथ कानपुर दुर्गा पूजा का निरीक्षण किया।
पूजा पंडालों में हादसे के बाद डीएम और पुलिस कमिश्नर ने साउथ कानपुर दुर्गा पूजा का निरीक्षण किया।

इन दिनों के खास पूजन विधि
नवमी- मां के कन्या रूप का पूजन किया जाएगा। इसे कुमारी पूजन भी कहा जाता है। दशमी- मां के दरबार में सिंदूर खेला का आयोजन। मां को पान और मिष्ठान का भोग। सिंदूर अर्पण, संधि पूजन और धुनुची नृत्य।

शास्त्री नगर में आयोजित दुर्गा पूजा में मां की आराधना करतीं महिलाएं।
शास्त्री नगर में आयोजित दुर्गा पूजा में मां की आराधना करतीं महिलाएं।
चकेरी स्थित कालीबाड़ी दुर्गा पूजा में पारंपरिक नृत्य कर पूजा करती हुईं महिलाएं।
चकेरी स्थित कालीबाड़ी दुर्गा पूजा में पारंपरिक नृत्य कर पूजा करती हुईं महिलाएं।
खबरें और भी हैं...