पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जीका के मरीज मिलने के बाद चकेरी में हाई अलर्ट:नहीं की गई है बैरिकेटिंग, कोरोना की तर्ज पर नहीं दिख रहा है प्रशासन का काम

कानपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रभावित इलाकों का दौरा करते ड - Money Bhaskar
प्रभावित इलाकों का दौरा करते ड

शहर में 10 जीका पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद चकेरी क्षेत्र में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। शहर में अब जीका वायरस के और मरीज मिलने की संभावना भी सीएमओ डॉ नेपाल सिंह ने पहले ही जाता दी थी। इससे दिल्ली और लखनऊ में भी बेचैनी बढ़ने लगी है। एयरफोर्स स्टेशन के अलावा चकेरी क्षेत्र के नौ मोहल्ले कंटामिनटेड घोषित कर दिए गए है है। जीका संक्रमण की गिरफ्त में हैं। ये मोहल्ले पोखरपुर, आदर्शनगर, श्यामनगर, कालीबाड़ी, ओमपुरवा, लालकुर्ती, काजीखेड़ा और पूनम टाकीज हैं।

अब तक मिले मरीजों में ज्यादातर एयरफोर्स कर्मी
मिली जानकारी के मुताबिक अब तक मिले 10 संक्रमितों में 6 एयरफोर्स कर्मी और चार सिविलियन हैं। चार महिलाओं में एक को आइसोलेट कर दिया गया है। इसके साथ ही कंटेनमेंट क्षेत्र के संदिग्धों के सैंपल लेकर केजीएमयू लखनऊ और पुणे भेजे जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने संक्रमित लोगों के संपर्क में आने वालों के भी सैंपल लिए।

जितने मरीज मिले है उनका इलाज घर पर ही किया जा रहा है
6 और नए रोगी मिलने पर डीएम विशाख जी ने जीका प्रभावित क्षेत्र का निरीक्षण किया और घर जा कर उन मरीजों से बात भी कि। इन सभी मरीजों में किसी प्रकार के लक्षण नहीं दिखाई दे रहे है। उन्होंने लोगों से कहा कि घरों में पानी जमा न रहने दें की सलाह दी। नगर निगम, स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की संयुक्त टीम गठित करके प्रभावित क्षेत्रों की मॉनिटरिंग के निर्देश दिए। इस मौके पर सीडीओ डॉ. महेंद्र कुमार, सीएमओ डॉ. नैपाल सिंह और अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे।

कोरोना की तर्ज पर नहीं हो रहा है काम
जिन इलाकों में जीका मिला है वहां प्रशासन ने अभी तक न तो बैरिकेडिंग की है और नाही लोगों को आने जाने से रोका जा रहा है। मुख्यमंत्री के कहने के बाद भी अभी तक प्रशासन अपनी सुस्त चाल ही चल रहा है। सीएमओ का कहना है है कि घबराने क ज़रुरआत नहीं है।

खबरें और भी हैं...