पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना ने थामी विमानों की रफ्तार:फ्लाइट निरस्त होने और संक्रमण के बीच यात्रियों के अमौसी डाइवर्ट होने की संभावना बढ़ी

कानपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना के बढ़ते संक्रमण ने जनजीवन रफ्तार थामना शुरू कर दी है। बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच लोगों ने अब हवाई यात्राओं में कटौती करना शुरू कर दी है। अवध टूर एंड ट्रेवल के एमडी मो सरिक बताते हैं, कि कोरोना की वजह से यात्रियों की संख्या घट गई है। यात्री घटने से विमानन कंपनियां फ्लाइटों को निरस्त कर रही है। आने वाले समय मे यदि ऐसे ही कोरोना मरीज बढ़ते रहे तो एयर ट्रैफिक पूरी तरह से लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट ट्रांसफर हो सकता है।

घटते यात्रियों के चलते अनियमित हुईं उड़ान

कोरोना के कहर से विमानन क्षेत्र भी प्रभावित होने लगा है। आलम यह है के कुछ समय पहले पूरी क्षमता से उड़ने वाली फ्लाइट अब यात्रियों की बाट जोह रही है। यात्रियों की पर्याप्त संख्या ना मिलने के कारण विमानन कंपनियां लगातार फ्लाइट कैंसिल कर रही है। शुक्रवार को स्पाइसजेट की मुंबई से आने वाली फ्लाइट कानपुर नहीं आई। जबकि दिल्ली और कानपुर के बीच दोनों और सेवा जारी रही। वही इंडिगो की मुंबई और बेंगलुरु से आने वाली फ्लाइट शहर पहुंची। हालांकि जो विमान शहर आए भी उनमें यात्री क्षमता से कम ही थे। शारिक के अनुसार विमानन कंपनी इंडिगो की मुंबई से आने वाली फ्लाइट से 120 यात्री शहर आए। जबकि चकेरी एयरपोर्ट से 69 यात्रियों ने मुंबई का सफर तय किया। इसी तरह बेंगलुरु से आने वाली फ्लाइट में 124 यात्री चकेरी उतरे तो महज 52 यात्री बंगलुरु गए। विमानन अधिकारियों ने जानकारी दी कि शहर से बाहर जाने वाले यात्रियों की संख्या तेजी से घट रही है। यह सब कोरोना का ही असर है। यात्रियों के आवागमन को देखते हुए ही सेवाएं संचालित होती हैं। उन्होंने बताया शनिवार को बेंगलुरु की फ्लाइट तो आएगी लेकिन मुंबई की फ्लाइट रद्द कर दी गई है। इसकी वजह भी यात्रियों की संख्या है।

हालात यही रहे तो कनपुरियो के लिए अरुचिकर हो जाएगा चकेरी एयरपोर्ट

ट्रेवल एजेंट मनोज बताते हैं की अगर स्थिति यही रही तो कानपुर को आने जाने वाली फ्लाइट कम हो जाएंगी। क्योंकि यात्रियों के लोड को देखते हुए लगातार अंतिम मौके पर फ्लाइट कैंसिल कर दी जाती है। वही अमौसी एयरपोर्ट के लिए फ्लाइट नियमित मिल रही है। जिससे लोग एक बार फिर लखनऊ से ही उड़ान भरने को महत्व देने लगेंगे। जानकारी के मुताबिक गुरुवार को भी मुंबई की दोनों फ्लाइट निरस्त रही थी। हालांकि विमानन कंपनियां परिचालन संबंधी समस्या बताकर फ्लाइट निरस्त कर रही है। अधिकारी बताते हैं कि अगर यही आलम रहा तो कानपुर को आने वाले यात्रियों की पहली पसंद अमौसी एयरपोर्ट बन जाएगा। ऐसे में उन्हें फिर से कानपुर लाना चुनौती होगा।

खबरें और भी हैं...