पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

‎IND vs NZ मैच पर जीका का साया:कानपुर में होने वाले मैच से पहले क्रिकेट बोर्ड ने किया रिव्यू; होटल में टीम के लिए बुक हैं 70 कमरे

कानपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

कानपुर में जीका वायरस बेकाबू होता जा रहा है। इसका असर 25 नवंबर को होने वाले भारत और न्यूजीलैंड के पांच दिवसीय मैच पर होता दिख रहा है। 2 नवंबर को शहर आए न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड के सदस्यों ने ग्रीन पार्क के अंदर और बाहर कई जगह जमा पानी और कूड़े को देखकर ऐतराज जताया था। बोर्ड के सदस्यों ने शहर में फैले संक्रामक रोगों की रिपोर्ट भी ली थी।

कानपुर में गुरुवार को जीका के 59 और मामले सामने आने से खलबली मची है। अभी तक यहां जीका के 95 मरीज पॉजिटिव मिल चुके हैं। मरीजों के मिलने के बाद अंतरराष्ट्रीय मैच अधर में दिखाई दे रहा है।

होटल में टीम के लिए बुक हैं 70 कमरे

भारत और न्यूजीलैंड के बीच 25 नवंबर से ग्रीन पार्क में टेस्ट मैच शुरू होने जा रहा है। UPCA ने 5 सितारा होटल लैंडमार्क में दोनों टीमों के लिए 70 कमरे भी बुक कराए हैं। यहां पर स्पोर्टिंग स्टाफ और BCCI के अधिकारी भी रुकेंगे।

मैच से पहले 2 नवंबर को न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड के सदस्यों ने ग्रीन पार्क का निरीक्षण किया था, जिसमें उन्होंने पार्क के अंदर और बाहर जमा पानी और कूड़े को लेकर भी काफी नाराजगी जताई थी। शहर में फैले संक्रामक रोगों के बारे में भी उन्होंने जानकारी ली थी। इसी बीच खेल विभाग और यूपीसीए ग्रीन पार्क के हालात को सुधारने के बजाय सारा मामला एक दूसरे के ऊपर ठेलने में लगे हैं।

ग्रीन पार्क के अंदर और बाहर सीवर का गंदा पानी कई दिनों से भरा हुआ है।
ग्रीन पार्क के अंदर और बाहर सीवर का गंदा पानी कई दिनों से भरा हुआ है।

गंदगी पर खेल विभाग को ठहराया जिम्मेदार
UPCA के एक अधिकारी ने नाम जाहिर न होने की शर्त पर बताया कि पिछले 4-5 सालों से ग्रीन पार्क में कोई भी मैच नहीं हुआ है। ऐसे में गंदगी को लेकर UPCA इसके लिए पूरी तरह जिम्मेदार नहीं हो सकता है। यह सब खेल विभाग को देखना चाहिए।

वह लोग इस जमीन पर कब्जा करना चाह रहे हैं। हम लोगों ने अपनी तरफ से पूरी तैयारी कर रखी है, लेकिन दूसरी तरफ खेल विभाग अपने कामों के प्रति संजीदा दिखाई नहीं दे रहा है। अभी न्यूजीलैंड की टीम आई थी। उसने सबसे पहले शहर में डेंगू और जीका के बढ़ रहे मरीजों की संख्या के बारे में पूछा था। साथ ही ग्रीन पार्क के अंदर और बाहर जो भी पानी भरा है उस पर भी आपत्ति जताई थी।

ग्रीन पार्क के अंदर और बाहर कूड़े को लेकर न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड के सदस्यों ने नाराजगी जताई थी।
ग्रीन पार्क के अंदर और बाहर कूड़े को लेकर न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड के सदस्यों ने नाराजगी जताई थी।

खेल विभाग नहीं यूपीसीए भी जिम्मेदार
खेल निदेशक मुद्रिका पाठक ने कहा कि मेरा इससे कुछ लेना-देना नहीं है। पानी बहुत पहले से भरा है। यहां सीवर ब्लॉक कर दिए गए हैं। इसके पहले पूरा पानी गंगा नदी में जाता था, लेकिन इसके ऑर्डर मैंने नहीं दिए थे।

जिस तरह से लापरवाही दिखाई दे रही है, इसमें सिर्फ खेल विभाग नहीं बल्कि UPCA भी जिम्मेदार है। अब तक पार्क के आसपास पानी जमा है तो इसके बारे में खेल मंत्री, UPCA या BCCI से भी पूछा जाना चाहिए। सब कुछ पता चल जाएगा।

बढ़ रहा है जीका का प्रकोप
शहर में जीका वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। जीका वायरस एयरफोर्स स्टेशन से लेकर चकेरी, जीटी रोड तक पहुंच गया है। गुरुवार को जीका के 59 एक्टिव केस मिलने से स्वास्थ्य महकमा भी अलर्ट पर है। वहीं दो स्वास्थ्यकर्मी भी जीका वायरस की चपेट में हैं। कानपुर में जीका संक्रमितों की संख्या 95 हो गई है।