पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57200.23-0.13 %
  • NIFTY17101.95-0.05 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47875-1.15 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61247-2.76 %
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • Attempts Were Made To Hold The Sanitation Officer Hostage In The Office Itself, Where Will I Tie It And Take It To The Municipal Headquarters, Then You Will Know, Kanpur Nagar Nigam. BJP Parshad, Bingawan Ward, ZSO, Kanpur

कानपुर में बीजेपी पार्षद की गुंडई:स्वच्छता अधिकारी को ऑफिस में ही बंधक बनाने का किया प्रयास, कहा बांधकर नगर निगम मुख्यालय लेकर जाऊंगी, तब पता चलेगा क्या सही है

कानपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महिला पार्षद ने जोनल ऑफिस में जेडएसओ को गमछे से बांधने का किया प्रयास। - Money Bhaskar
महिला पार्षद ने जोनल ऑफिस में जेडएसओ को गमछे से बांधने का किया प्रयास।

कानपुर में बीजेपी नेताओं के कारनामे थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। नया मामला बीजेपी महिला पार्षद की गुंडई का है। सफाई कर्मचारियों के वेतन रोके जाने से नाराज पार्षद इस कदर गुस्सा गई कि जोनल स्वच्छता अधिकारी (जेडएसओ) को बंधक बनाने का प्रयास किया। बांधकर नगर निगम मुख्यालय लाने की बात कही। लेकिन वे अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो सकीं।

बचने का प्रयास करते हुए जेडएसओ सुरेश यादव।
बचने का प्रयास करते हुए जेडएसओ सुरेश यादव।

वेतन रोकने से थीं नाराज
बीजेपी पार्षद मेनका सेंगर ने आरोप लगाया कि जेडएसओ के कहने पर ही गरीब सफाई कर्मचारियों के वेतन रोके गए हैं। जिसपर पार्षद ने जमकर हंगामा किया। वहीं मामले में नगर निगम अधिकारी सुरेश कुमार यादव ने पार्षद के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। कहा कि प्राइवेट कंपनी ने कर्मचारियों के वेतन रोके हैं उनका कर्मचारियों को हटाए जाने से कोई लेना देना नहीं है।

ये है पूरा मामला
बिनगवां वार्ड 87 से बीजेपी से मेनका सिंह सेंगर पार्षद हैं। गुरुवार को पार्षद जोन-3 स्थित नगर निगम के जोनल कार्यालय पहुंची उनके साथ नगर निगम से हटाए गए कर्मचारी भी मौजूद थे। इस दौरान पार्षद ने जोनल कार्यालय में हंगामा करना शुरू कर दिया और नगर निगम जेडएसओ सुरेश कुमार यादव पर चिल्लाना शुरू कर दिया। पार्षद ने कहा कि 12 कर्मचारियों के वेतन क्यों रोक दिया है। इस पर जेडएसओ ने कहा कि मेरी जानकारी में ये नहीं है। इस दौरान पार्षद ने कई बार जेडएसओ को बंधक बनाने का प्रयास किया।

बंधक बनाने का किया प्रयास
पार्षद इस कदर बौखला गई कि उन्होंने एक कर्मचारी का गमछा मांगा और अधिकारी से कहा कि मैं बांधकर नगर निगम के हेड आफिस ले जाऊंगी, वहीं ले जाकर पता चलेगा क्या सही है। मामले में जेडएसओ का कहना था कि नगर स्वास्थ्य अधिकारी के द्वारा जारी लेटर के बाद वेतन रोका गया है। उनका इसमें कोई लेना देना नहीं है।

पार्षद ने दी चेतावनी
पार्षद ने बताया कि जेडएसओ 40 सफाई कर्मचारियों में से 3 से अपने घर मे काम कराते हैं, और अब 12 के वेतन रोक दिए हैं उन्होंने कहा कि कर्मचारी मुझसे रोते हैं। पार्षद ने कहा कि इसकी शिकायत महापौर से करेंगे। अगर समस्या हल नहीं हुई तो नगर निगम मुख्यालय में अधिकारियों के खिलाफ धरना प्रदर्शन करेंगे।

विवादों से पुराना नाता

पार्षद का विवादों से पुराना नाता रहा है। बीते साल नगर निगम सदन की कार्यवाही के दौरान अधिकारियों को चप्पल से मारने की बात कही थी। इस पर अधिकारियों ने सदन का बहिष्कार कर दिया था।

खबरें और भी हैं...