पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57200.23-0.13 %
  • NIFTY17101.95-0.05 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47875-1.15 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61247-2.76 %

कानपुर में फ्रंटलाइन वॉरियर की मौत:30 साल के डॉ प्रतीक की हार्ट अटैक से हुई मौत, जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज में शोक की लहर

कानपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Money Bhaskar
फाइल फोटो

कोरोना वायरस का कहर लगातार विकराल रूप लेता नजर आ रहा है। इसका शिकार ज्यादातर पोस्ट कोरोना मरीज ही हो रहे है। कोरोना ने फ्रंटलाइन वारियर्स को भी नहीं बक्शा है। ताजा मामला हैलट में कार्यरत एक डॉक्टर का है जिसकी मौत गुरुवार देर रात हार्ट अटैक से हो गई। मिली जानकारी के अनुसार वह हैलट के न्यूरो साइंस वार्ड में कई दिनों तक कोविड के मरीजों की देखभाल करते रहे थे और उन्हें खुद कोरोना ने अपनी चपेट में ले लिया था।

फ्रंटलाइन वॉरियर की मौत...
मिली जानकारी के अनुसार हैलट के सीनियर रेजीडेंट डॉ. प्रतीक वाजपेई (30) का हार्ट अटैक से मौत हो गयी है। उन्होंने काफी कम उम्र में कॉलेज और अस्पताल में अपने काम करने के तरीके से काफी नाम कमा लिया था। उप प्राचार्य डॉ ऋचा गिरी ने बताया, बुधवार देर रात उनके परिजन उनको पेट में दर्द होने की तकलीफ के कारण हैलट लेकर आये थे, लेकिन जब दर्द पेट से बढ़ कर सीने तक पंहुचा तो उन्हें परिजन रीजेंसी अस्पताल ले गए जहां उन्होंने शुक्रवार को दम तोड़ दिया। उनकी मौत हार्ट अटैक होने से हुई है। उनके पिता पीएन बाजपाई कन्नौज के सीएमओ रह चुके है। परिवार वालों ने बताया कि काम को लेकर काफी स्ट्रेस में भी रहने लगे थे।

पोस्ट कोरोना ट्रॉमा से जूझ रहे है लोग...
आपको बता दें इन दिनों ज्यादातर मौतें सिर्फ हार्ट अटैक से नहीं बल्कि पोस्ट कोविड सिंड्रोम से हो रही है। डॉ प्रतीक को कोरोना हुआ था और उसके बावजूद इन्होने जो बीएड रेस्ट लेना चाहिए थे वह नहीं लिया और कोरोना से ठीक होने के तुरंत बाद अपने काम पर वापस आगए। एक्सपर्ट्स की मानें तो व्यक्ति कोई भी हो अगर उसको कोरोना हुआ है तो काम से का 120 दिनों तक उसको अपने शरीर का ध्यान रखना होता है।

खबरें और भी हैं...