पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

381 नए मामलों के साथ ऐक्टिव केस 2803:119 ने होम आइसोलेट होकर वायरस को दी मात , नहीं हुई जनहानि

कानपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शनिवार को कोरोना की रफ्तार थमने के बाद रविवार को एक बार फिर से संक्रमण ने तेजी पकड़ी। शनिवार को 369 मरीज मिले थे। रविवार को 381 के नये मरीज सामने आए है। बढ़ते मामलों को लेकर स्वास्थ्य महकमा चिंतित है। हालांकि राहत की बाद है कि किसी भी संक्रमित की मौत का मामला सामने नहीं आया। वही आज एक भी संक्रमित को डिस्चार्ज नहीं किया गया है, जबकि होम आइसोलेशन में ठीक हए संक्रमितों की संख्या 119 है .

शहर में 385 नए मामले , डिस्चार्ज एक भी नहीं

कानपुर में संक्रमण का फैलाव जारी है। शहर में आज भी नए संक्रमण के मामले सामने आए हैं। मिले आंकड़ों के अनुसार आज 381 नए मामले सामने आए। जांच में पॉजिटिव आने वालों को होम आइसोलेट किया गया है। वही आज एक भीसंक्रमित डिस्चार्ज नहीं हुआ है।इसके साथ ही 119 लोगों ने होम आइसोलेशन में रहकर संक्रमण से मुक्ति पा ली। लोगों को डॉक्टर की सलाह से घर पर ही रहते हुए ट्रीटमेंट दिया गया। होम आइसोलेशन पूर्ण कर चुके सभी लोग स्वस्थ है।

रिकवरी करने वालों का आकड़ा राहत की बात

संक्रमण के बढ़ते मामलों ने स्वास्थ्य विभाग को परेशान कर रखा है.लेकिन संक्र्मतों का तेजी से रिकवर होना ये राहत दे रहा है . शहर में अब तक आए संक्रमण मामलों में घर पर आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों ने तेजी से रिकवरी की है . रविवार की बात करें तो घर पर रिकवरी करने वालों की संख्या 119 रही .

कोरोना से नहीं गई एक भी जान

कोरोना संक्रमण से शहर में आज किसी की भी जान नहीं गई . ये खबर राहत देने वाली रही . जानकारो का मनना है कि लोगों में इम्यूनिटी विकसित हो चुकी है . जिस वजह से लोगो को पहले के मुकाबले ज्यादा दिक्कत नही आ रही .

अनुमानित संक्रमितो की संख्या के मुकाबले नही है संख्या

कोरोना के बढ़ते मामले चिंतित जरूर करते हैं , लेकिन संक्रमितो की संख्या का उतना रफ्तार से ना बढ़ने से स्वास्थ्य महकमा चैन की सांस ले रहा , देश के विभिन्न हिस्सों में जहां संक्रमितों की संख्या में एक दम से उछाल आ रहा था वहीं कानपुर में स्थिति नियंत्रण में है . जो मामले सामने आ भी रहे है उनमें उतनी गंभीरता नही है .

लाक डाउन और बढ़ी ठंड ने रोकी रफ्तार

स्वास्थ महकमा कोरना की रफ्तार मंद पड़ने से राहत की सांस ले रहा है . विशेषज्ञों का मानना है कि मामले अनुमानित सख्या के हिसाब से नही आ रहे .इसके पीछे नाइट कर्फ्यू भी है . नाइट कर्फ्यू ने कोरोना की रफ्तार रोकने में अहम भूमिका निभाई है . वहीं पिछले कई दिनों से गिरते पारे की वजह से लोग घरों से निकलने से परहेज कर रहे है .इसलिये स्थिति नियंत्रण में है .जोकि राहत की बात है .