पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कानपुर देहात में वर्चुअल प्रचार पर पुलिस की नजर:टीम का गठन कर हो रही जांच, खंगाले जा रहे हैं अकाउंट

कानपुर देहात7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सोशल मीडिया प्लेटाफार्म पर पुलिस की नजर। - Money Bhaskar
सोशल मीडिया प्लेटाफार्म पर पुलिस की नजर।

कानपुर देहात में कोरोना संक्रमण को देखते हुए चुनाव आयोग ने रैली और जनसभाओं पर रोक लगाई हुई है। ज्यादा से ज्यादा वर्चुअल प्रचार करने के निर्देश दे रखे हैं। जिसके चलते पार्टियां, प्रत्याशी और प्रत्याशियों के समर्थकों के पास अब सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का ही सहारा बचा है।

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करते हुए प्रचार प्रसार भी शुरू कर दिया है। वहीं आचार संहिता का उल्लंघन ना हो और किसी भी प्रकार से आपत्तिजनक पोस्ट सोशल मीडिया पर ना डाले जा सके इसको लेकर पुलिस टीम भी सतर्क हो गई है। हर एक पोस्ट पर पुलिस नजरें बनाई हुई है।

पुलिस मीडिया प्लेटफॉर्म पर बनाए हुए है नजर

पुलिस सूत्रों की माने तो कानपुर देहात में तीसरे चरण में चुनाव होना है। रैलियों, जनसभाओं पर रोक के बाद पार्टी पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि और संभावित उम्मीदवार और समर्थकों के फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सएप ग्रुप पुलिस के रडार पर हैं। चुनाव के दौरान आचार संहिता का उल्लंघन न हो सके और आपत्तिजनक पोस्ट पर निगरानी रखने के लिए पुलिस ने सोशल मीडिया निगरानी टीम/सोशल मीडिया सेल का गठन किया है। जो टीम लगातार सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर नजर बनाए हुए हैं।

आरोपी पर होगी सख्त कार्रवाई

पुलिस सूत्रों की माने तो पुलिस की सोशल मीडिया निगरानी टीम ने सभी के एकाउंट खंगालने शुरू कर दिए हैं। साथ ही इसकी पूरी तैयारी कर ली गई है। प्रचार सामग्री का अवलोकन तत्काल किया जा सके। विवादित मामले होने पर आचार संहिता उल्लंघन की रिपोर्ट दर्ज की जाएगी। चुनावी माहौल बिगाड़ने वाले को तत्काल गिरफ्तार कर जेल भेजने की भी तैयारी कर ली गई है।

खबरें और भी हैं...