पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

MP से झांसी आए 4 मजदूरों की हादसे में मौत:मजदूरी करके घर जा रहे थे, आधे घंटे तक गाड़ी के नीचे दबे रहे 6 लोग

झांसी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

झांसी में यूपी-एमपी बॉर्डर के पास पिकअप पलटने से चार लोगों की मौत हो गई। जबकि चार लोग गंभीर रूप से घायल हैं। घायलों को झांसी मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है। सभी क्रेशर पर काम करके घर लौट रहे थे। हादसा गांव से कुछ दूर पहले उनकी पिकअप अनियंत्रित होकर पलट गई।

मध्यप्रदेश के बॉर्डर पर बसे कुड़ार गांव के मजदूर रोज की तरह झांसी के गुरसराए के पास हबूपुरा में एक क्रेशर पर काम करने गए थे। मंगलवार देर शाम मजदूर पिकअप से घर जा रहे थे। तभी गांव से 200 मीटर पहले पिकअप अनियंत्रित होकर सड़क पर पलट गई।

दो मजदूर गांव से पहले ही उतर गए
इससे 6 लोग दूर जा गिरे। जबकि कुड़ार निवासी महेंद्र नामदेव (38), हरिराम (34), राजेंद्र रजक (23), भज्जू (45), अरविंद उर्फ टिंकू (29) और दीपक (25) पिकअप के नीचे दब गए। इसमें राजेंद्र और भज्जू की मौके पर मौत हो गई। जबकि महेंद्र और हरिराम ने झांसी में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। दीपक, टिंकू और दो अन्य घायलों का इलाज चल रहा है। पिकअप में करीब 14 मजदूर सवार थे। दो मजदूर पहले ही उतर गए थे।

घायलों ने फोन कर दी हादसे की जानकारी

सूचना पर पहुंची एम्बुलेंस ने घायलों और मृतकों को तुरंत अस्पताल पहुंचाया।
सूचना पर पहुंची एम्बुलेंस ने घायलों और मृतकों को तुरंत अस्पताल पहुंचाया।

घायलों ने गांव के लोगों और परिवार को फोन करके हादसे की जानकारी दी। इसके बाद लोग मौके पर पहुंचे और पिकअप के नीचे दबे लोगों को किसी तरह से बाहर निकाला। पिकअप के नीचे दबने से राजेंद्र और भज्जू के शव बुरी तरह फंस गए थे।

राजेंद्र की तीन माह पहले हुई थी शादी

हादसे में मृतक राजेंद्र की 3 महीने पहले ही शादी हुई थी।
हादसे में मृतक राजेंद्र की 3 महीने पहले ही शादी हुई थी।

गांव में एक साथ चार मौत होने से मातम पसर गया। गांव के लोगों ने बताया कि राजेंद्र की करीब तीन माह पहले ही शादी हुई थी। वहीं महेंद्र की पत्नी आशा गर्भवती है। महेंद्र को 5 साल का बेटा और तीन साल की बेटी है। हरिराम को एक बेटा व एक बेटी है। भज्जू की तीन बेटियां व एक बेटा है।