पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

घनाराम कंस्ट्रक्शन कंपनी पर IT रेड का तीसरा दिन:झांसी में मॉर्निंग वॉक पर गए सीए के घर पर ताले, टीम ने तोड़ने की परमिशन मांगी

झांसी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ये सीए दिनेश सेठी का घर है। मैन गेट खुला है, लेकिन अंदर ताले लगे हुए। इनकम टैक्स की टीम बरामदे में डेरा जमाए हुए है। - Money Bhaskar
ये सीए दिनेश सेठी का घर है। मैन गेट खुला है, लेकिन अंदर ताले लगे हुए। इनकम टैक्स की टीम बरामदे में डेरा जमाए हुए है।

झांसी में सपा नेता की घनाराम कंस्ट्रक्शन कंपनी और उसके सहयोगी बिल्डरों के 10 ठिकानों पर रेड जारी है। आयकर विभाग की पड़ताल शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन जारी रही। इन सबकी महत्वपूर्ण कड़ी सीए (चार्टर्ड अकाउंट) दिनेश सेठी को माना जा रहा है।

बुधवार सुबह छापे के दौरान एक टीम सेठी के जानकीपुरम घर पहुंची थी। लेकिन सेठी मॉर्निंग वॉक पर गए थे। घर के बाकी सदस्य बाहर थे। जैसे ही पता चला कि इनकम टैक्स की टीम घर पहुंच गई। तब से सेठी का कोई अता-पता नहीं है। शुक्रवार को उनके अस्पताल में भर्ती होने की खबर मिली।

इनकम टैक्स की टीम घेर कर बैठी है सेठी का घर

झांसी में 10 से अधिक बिल्डर्स व कारोबारियों के ठिकानों पर आयकर विभाग का सर्वे जारी है।
झांसी में 10 से अधिक बिल्डर्स व कारोबारियों के ठिकानों पर आयकर विभाग का सर्वे जारी है।

सेठी के घर पर ताला लगा है। 3 दिन से इनकम टैक्स की टीम व पुलिस सेठी के घर के बाहर बरामदे में डेरा जमाए हुए हैं। शुक्रवार को टीम को परिजनों ने बताया कि सेठी की हालत ठीक नहीं है और वे मेंदाता हॉस्पिटल में एडमिट हैं।

बताया जा रहा है कि अब टीम ने अपने हेड ऑफिस से सेठी के घर के ताले तोड़ने की इजाजत मांगी है। टीम को सेठी के पास सभी बिल्डर का लेखा-जोखा होने की खबर है।

3 दिन से इनके घर पर चल रही है पड़ताल

  • सपा नेता श्याम सुंदर सिंह यादव व उनके भाई बिशन सिंह का घनाराम ग्रुप पहले सरकारी ठेका लेता था। अब वो रियल एस्टेट कारोबार में आ गया है। अकेले झांसी में ही 6 प्रोजेक्ट चल रहे हैं।
  • आनंद अग्रवाल: गुटके का बड़ा कारोबारी रहा है। रियल एस्टेट के कई बड़े प्रोजेक्ट में हिस्सेदारी है।
  • आईपी भल्ला: रियल एस्टेट सेक्टर में कारोबार है। कई बड़े प्रोजेक्ट में हिस्सेदार हैं।
  • राकेश बघेल: ऑटोमोबाइल्स का बड़ा काम है। टू-व्हीलर और फोर-व्हीलर गाड़ियों की एजेंसियां है। पुराने कॉलोनाइजरों में गिनती होती है। अन्य व्यवसाय हैं।
  • दिनेश सेठी: क्षेत्र के बड़े सीए में गिनती होती है। बड़े बिल्डरों के आय-व्यय का लेखा-जोखा संभालते हैं। व्यापार भी है।
  • विजय सरावगी: रियल एस्टेट का बड़ा कारोबार है। घनाराम ग्रुप द्वारा बनाए जा रहे बुंदेलखंड के सबसे बड़े मॉल में पार्टनर हैं।
  • वीरेंद्र राय: रियल एस्टेट कारोबारी है। इसके अलावा ऑटोमोबाइल्स, होटल और दो बड़े स्कूलों के मालिक हैं।
  • संजय अरोड़ा: पुराने नामचीन इेलेक्ट्रोनिक्स शोरूम के संचालक हैं। रियल एस्टेट के कई बड़े प्रोजेक्ट में रकम लगा रखी है। कई प्रोजेक्ट में पार्टनर हैं।
  • शिवा सोनी: कई प्रोजेक्ट पर काम जारी है। रियल एस्टेट कारोबार का झांसी का बड़ा नाम है।