पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डॉक्टर विहीन नहीं रहेगी कोई भी पीएचसी:शासन को भेजा प्रस्ताव, झांसी-जालौन-ललितपुर की 26 पीएचसी के रिक्त पद भरे जाएंगे

झांसी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मंडलायुक्त डॉ. अजय शंकर पांडेय। - Money Bhaskar
मंडलायुक्त डॉ. अजय शंकर पांडेय।

झांसी मंडल में अब कोई भी पीएचसी डॉक्टरों के बिना संचालित नहीं होगी। सभी पीएचसी पर डॉक्टरों के रिक्त पद भरने के प्रयास शुरू हो गए हैं। इसके लिए मंडलायुक्त डॉ. अजय शंकर पांडेय ने शासन को पत्र लिखा है। मंडल के झांसी, जालौन और ललितपुर में 94 पीएचसी (प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र) संचालित हैं। इसमें से 26 पीएचसी पर कोई भी डॉक्टर तैनात नहीं है।

इससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। इन केंद्रों पर वैकल्पिक व्यवस्था के सहारे सेवाएं प्रदान की जा रही है। मंडलायुक्त ने अपर मुख्य सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद को पत्र लिखकर मण्डल के सभी चिकित्सक विहीन पीएचसी पर डॉक्टरों की तैनाती करने का अनुरोध किया है।

जनता को और बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मिलेंगी
मण्डलायुक्त ने बताया कि मंडल के तीनों जिलों में स्वास्थ्य केंद्रों पर लोगों को चिकित्सा सेवाएं प्रदान करने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। डॉक्टरों की कमी दूर होने पर लोगों और बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मिल सकेंगी। हर रविवार को सभी पीएचसी पर मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेलों का आयोजन होता है।

इन मेलों में ग्रामीण क्षेत्रों की जनता को उनके नजदीक स्थिति स्वास्थ्य केन्द्र पर ही एक छत के नीचे सभी सेवाएं मिलती हैं। झांसी में 44, जालौन में 34 और ललितपुर में 28 पीएचसी पर सामान्य चिकित्सा, ब्लड प्रेशर, डायबिटीज का उपचार व जांचे और विभिन्न प्रकार की परामर्श सेवाएं दी जा रही हैं।

मेलों का संचालन प्रभावित न हो, इसलिए प्रस्ताव भेजा
मंडलायुक्त ने बताया कि डॉक्टरों की कमी से तीनों जिलों की पीएचसी की नियमित सेवाएं और आरोग्य मेलों का संचालन प्रभावित न हो, इसलिए शासन को प्रस्ताव भेजा गया है। अनुरोध किया है कि वार्षिक स्थानानंतरण नीति वर्ष 2022-23 घोषित होने पर डॉक्टरों के स्थानांनतरण में झांसी मंडल के जनपदों में 26 डॉक्टरों की तैनाती पर विचार करें।