पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बुंदेली कलाकार सजाएंगे PM मोदी का मंच:जालौन में बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का करेंगे शुभारंभ, बुंदेली नृत्य भी देखेंगे

झांसी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

PM नरेंद्र मोदी के जालौन आने की तैयारियां शुरू हो गई हैं। वे यहां 296 किलोमीटर लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन करेंगे। इसको लेकर प्रशासनिक अफसर तैयारियों में जुट गए हैं। पहली बार बुंदेली कलाकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मंच सजाएंगे।

मंच पर बुंदेलखंड की प्रसिद्ध चितेरी चित्रकला उकेरी जाएगी। मोदी बुंदेली नृत्य और प्रदर्शनी भी देखेंगे। इसके लिए प्रशासन 80 लोक कलाकारों को बुलाने की तैयारी में जुट गया है। ये कलाकार झांसी और चित्रकूट धाम मंडल के 7 जिलों से बुलाए जाएंगे। मोदी 13 जुलाई को जालौन आ सकते हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी के यूपी दौरे को लेकर अभी कोई प्रोटोकाॅल जारी नहीं हुआ है। माना जा रहा कि 13 जुलाई को वह जालौन आ सकते हैं।
पीएम नरेंद्र मोदी के यूपी दौरे को लेकर अभी कोई प्रोटोकाॅल जारी नहीं हुआ है। माना जा रहा कि 13 जुलाई को वह जालौन आ सकते हैं।

सांस्कृतिक धरोहर को संरक्षित करने की पहल
बुंदेलखंड की सांस्कृतिक धरोहर को संरक्षित करने के लिए अनेक कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। झांसी मंडल आयुक्त डॉ. अजय शंकर पांडेय ने बताया कि कार्यक्रम स्थल के पास बुंदेली कलाकारों के लिए एक अलग स्थान निर्धारित होगा।

जहां वे अपनी कलाओं का प्रदर्शन कर सकेंगे। कार्यक्रम स्थल के पास ही एक सांस्कृतिक और ऐतिहासिक धरोहर दीर्घा भी बनाई जाएगी। जहां बुंदेलखंड की सांस्कृतिक धरोहर के प्रदर्शन के लिए छायाचित्र लगाए जाएंगे। इस प्रदर्शनी में झांसी मंडल की प्रसिद्ध इमारतों के साथ-साथ हाल ही में खोजी गई गांव-गांव की गौरव गाथा से संबंधित चित्रों का भी प्रदर्शन किया जाएगा।

ताकि…राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बन सके

चितेरी चित्रकला का दृश्य।
चितेरी चित्रकला का दृश्य।

मंडल आयुक्त डॉ. पांडेय ने बताया कि बुंदेलखंड की परंपरागत चितेरी चित्रकला के प्रदर्शन के लिए प्रधानमंत्री के संभावित कार्यक्रम स्थल के पास सजावट की जाएगी। लोक कलाकारों को कार्यक्रम में आमंत्रित कर उन्हें भव्य प्रस्तुतियों का अवसर प्रदान किया जाएगा।

प्रदर्शनी के लिए अलग-अलग मंच बनाए जाएंगे। इसके लिए क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी को उत्तरदायी बनाया गया है। समारोह में कलाकारों को अवसर देने का उद्देश्य बुंदेली लोक कलाओं को एक बार फिर जीवंत किया जाना है।इससे कलाकारों को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिल सके।

ऐसी होती है बुंदेलखंड की प्रसिद्ध चितेरी चित्रकला।
ऐसी होती है बुंदेलखंड की प्रसिद्ध चितेरी चित्रकला।

प्रधानमंत्री के आगमन को लेकर ये कार्यक्रम तय हुए

  • बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन स्थल पर बनेगी बुंदेलखंड सांस्कृतिक दीर्घा।
  • विभिन्न विधाओं के कलाकारों को मिलेगा प्रस्तुति का अवसर।
  • गुमनाम से नाम की ओर प्रकाशन शृंखला में प्रकाशित बुंदेली साहित्य की प्रदर्शनी।
  • साहित्यकारों को भी कार्यक्रम में भाग लेने का अवसर मिलेगा।
  • चितेरी कला से सजेगा प्रधानमंत्री के कार्यक्रम का मंच

14 हजार 849 करोड़ रुपए की लागत से बना है 296 किमी. लंबा एक्सप्रेस-वे
करीब 296 किमी. लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे को बनाने में 14 हजार 849 करोड़ रुपए लगे हैं। इसके शुरू होने के बाद चित्रकूट से दिल्ली तक पहुंचने में लोगों को सिर्फ 6 घंटे ही लगेंगे। बुंदेलखंड का जुड़ाव यमुना एक्सप्रेस-वे और पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से होगा।

भविष्य में गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे, प्रयागराज एक्सप्रेस-वे के पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से जुड़ने पर पूरे प्रदेश में एक्सप्रेस-वे से सफर आसान हो जाएगा और यूपी का एक बड़ा हिस्सा एक्सप्रेस-वे से जुड़ जाएगा।

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे से चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, ओरैया और इटावा को लाभ मिलेगा। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के चार लेन बनकर लगभग तैयार हैं। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के निर्माण में कुल 4 रेलवे ओवर ब्रिज, 14 लंबे पुल, 6 टोल प्लाजा, 7 रैम्प प्लाजा, 266 छोटे पुल, 18 फ्लाई ओवर बनाए गए हैं।