पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

झांसी डीएम के नाम पर ठगी करने वाले गिरफ्तार:नागरिक सुरक्षा उपनियंत्रक से 70 हजार ठगे थे, जिला उद्योग उपायुक्त बचे गए थे

झांसी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डीएम के नाम पर ठगी करने वाले आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। - Money Bhaskar
डीएम के नाम पर ठगी करने वाले आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

झांसी डीएम के नाम पर दो अफसरों को ठगी के जाल में फंसाने वाले दो शातिर आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उनके पास से दो मोबाइल बरामद हुए हैं। दोनों ने वाट्सएप पर डीएम की फोटो व नाम लिखकर नागरिक सुरक्षा उपनियंत्रक मुनेश कुमार गुप्ता से 70 हजार रुपए की ठगी कर ली थी। जबकि जिला उद्योग प्रोत्साहन एवं उद्यमिता विकास केंद्र के उपायुक्त मनीष चौधरी ठगी होने से बाल बाल बच गए थे। गुप्ता ने नवाबाद और चौधरी ने सीपरी बाजार थाना में केस दर्ज करवाया था।

पूछताछ के बाद किया गिरफ्तार

नवाबाद थाना प्रभारी सुधाकर मिश्रा ने बताया कि ठगी में महाराजगंज के पिपरदेउरा निवासी विनोद साहनी पुत्र महातम साहनी और महाराजगंज के बैजोली टोली निवासी सूरज मिश्रा पुत्र केशव मिश्रा के नाम सामने आए थे। दोनों को पूछताछ के लिए थाने लाया गया। जुर्म कबूलने पर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया।

डीएम की फोटो देख झांसे में फंस गए थे अफसर

नागरिक सुरक्षा उप नियंत्रक मुनेश कुमार गुप्ता के के पास एक अगस्त को अज्ञात नंबर से वाट्सएप मैसेज आया। नंबर की डीपी पर डीएम का फोटो लगा था। उनका नाम भी लिखा था। उप नियंत्रक गुप्ता ने ठग को डीएम समझते हुए चेटिंग की।

ठग के कहने पर उप नियंत्रक ने शॉपिंग साइट अमेजन से 70 हजार रुपए ई-कार्ड खरीदकर दे दिए। वहीं, जिला उद्योग प्रोत्साहन एवं उद्यमिता विकास केंद्र के उपायुक्त मनीष चौधरी से रुपए की मांग की गई। लेकिन रुपए देने से पहले ही उनको ठगों के बारे में पता चल गया था।