पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

झांसी में बेकाबू बस आपे से भिड़ी, महिला की मौत:ड्राइवर और महिला के परिवार के 9 लोग घायल; ओरछा से दर्शन कर आ रहे थे

झांसी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
झांसी में बस की टक्कर के बाद आपे के परखच्चे उड़ गए।

झांसी में बुधवार शाम को बेकाबू बस गलत दिशा में जाकर सामने से आ रही टेम्पो से भिड़ गई। हादसे में टेम्पो सवार एक महिला की मौत हो गई, जबकि उसकी बेटी, दामाद, बेटा समेत 10 लोग घायल हैं।

हादसा झांसी-मऊरानीपुर हाईवे पर मून सिटी के पास शाम करीब 4 बजे हुआ। सभी घायलों को महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है। 3 लोगों की हालत नाजुक बनी है।

बस की टक्कर के बाद सवारियां आपे से बाहर फिक गई। हादसे के बाद लोगों ने घायलों को झांसी मेडिकल कॉलेज पहुंचाया।
बस की टक्कर के बाद सवारियां आपे से बाहर फिक गई। हादसे के बाद लोगों ने घायलों को झांसी मेडिकल कॉलेज पहुंचाया।

झांसी से बांदा के लिए पकड़नी थी ट्रेन
बांदा के एक परिवार के 10 लोग बुधवार सुबह झांसी के नजदीक मध्य प्रदेश के ओरछा में रामराजा के दर्शन करने आए थे। सभी ने दर्शन किए और शाम को टेम्पो से झांसी लौट रहे थे। उन्हें शाम 5 बजे बांदा के लिए झांसी से ट्रेन पकड़नी थी। टेम्पो में ड्राइवर समेत 11 लोग सवार थे।

हादसे में घायल हुई अर्चना और उसकी 9 साल की बेटी पलक का इलाज चलता हुआ।
हादसे में घायल हुई अर्चना और उसकी 9 साल की बेटी पलक का इलाज चलता हुआ।

स्पीड तेज होने के कारण बस नहीं संभाल पाया ड्राइवर
बांदा के अवंती नगर निवासी फौजी विक्रम सिंह के अनुसार, “हमारी आपे झांसी पहुंचने वाली थी। झांसी महज 1.5 किलोमीटर बचा था। मून सिटी के पास सामने से एक बस आ रही थी। उसकी स्पीड बहुत अधिक होने के कारण बस का संतुलन बिगड़ गया। हमारी टेम्पो साइड में चल रही थी।

ड्राइवर ने बचने के लिए आपे को कच्चे में उतार दिया। हम लोग चिल्लाते रहे, लेकिन स्पीड तेज होने के कारण ड्राइवर बस नहीं संभाल पाया और बस टेम्पो में ठोंक दी। इससे कुछ सवारियां टेम्पो से बाहर इधर-उधर गिर गई और टेम्पो पलट गई। हादसे में मेरी सास बांदा के डिंगवाही निवासी सुनीता (53) पत्नी लोहन सिंह की मौत हो गई।”

हादसे में घायल अर्चना की बुआ संतोष कुमारी और आपे ड्राइवर संतोष कुमार।
हादसे में घायल अर्चना की बुआ संतोष कुमारी और आपे ड्राइवर संतोष कुमार।

हादसे में ये लोग हुए घायल

  • सुनीता का बेटा अमन (16) लोटन सिंह निवासी डिंगवाही, बांदा
  • सुनीता की बेटी अर्चना (30) पत्नी विक्रम सिंह निवासी अवंती नगर, बांदा
  • सुनीता का दामाद विक्रम सिंह (35)
  • विक्रम की 9 साल की बेटी पलक और 12 साल की बेटी वर्षा
  • सुनीता की ननद संतोष कुमारी (45) पत्नी महेंद्र निवासी नरेनी, बांदा
  • संतोष कुमारी के बेटे वीरेंद्र (20) और योगेंद्र (25)
  • सुनीता के जेठ का बेटा ओम सिंह (30)
  • आपे ड्राइवर संतोष कुमार केवट (41) पुत्र हरदयाल निवासी ओरछा