पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जालौन में रात के अंधेरे में खनन कर रहे माफिया:विवाद सुलझाने पहुंची पुलिस से ग्रामीणों की हाथापाई, पुलिस पर मिली होने का आरोप

जालौन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जालौन में रात के अंधेरे में माफिया मध्य प्रदेश के भिंड इलाके से अवैध खनन करके उसका अवैध तरीके से परिवहन करने में लगे है, जिससे परेशान ग्रामीणों ने इन माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई कराने को लेकर पुलिस से शिकायत की। जिस पर मामले को समझने पहुंची पुलिस सिपाही से ही ग्रामीण और माफियाओं की झड़प हो गई, जिसमें एक सिपाही के साथ हाथापाई की गई, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वहीं ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस के सहयोग से यह माफिया अवैध तरीके से खनन कर रहे हैं।

सिंध नदी से हो रहा बालू का खनन

मामला जालौन के रामपुरा थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सिद्धपुरा का है। बता दे कि सिद्धपुरा गांव मध्य प्रदेश की सीमा से सटा हुआ है और इन दिनों बरसात का मौसम आने के कारण मध्य प्रदेश के भिंड जनपद से निकली सिंध नदी से अवैध तरीके से बालू खनन किया जा रहा है और वहां से बालू भरे ट्रैक्टर लगातार निकल रहे हैं और यह ट्रैक्टर रात के अंधेरे में इतनी तेजी से निकलते हैं कि ग्रामीणों के सड़क किनारे बंधे मवेशी को जान का खतरा बना हुआ है। जिसको लेकर ग्रामीण विरोध भी कर चुके है।

अभय के द्वारा किया गया एक ट्वीट।
अभय के द्वारा किया गया एक ट्वीट।

गांव से निकलते हैं ट्रैक्टर-ट्राली

बुधवार की रात को जब सभी ग्रामीणों ने ट्रैक्टर वालों का विरोध किया तो ट्रैक्टर वालों ने खनन कराने वाले बालू माफिया को बुला लिया, जिसके बाद बाद बालू माफिया और ग्रामीणों में विवाद बढ़ गया जिसकी जानकारी ग्रामीणों ने रामपुरा थानाध्यक्ष को दी, इस शिकायत पर थाने में तैनात सिपाही अंकित कुमार मामले को निपटाने पहुंचा, मगर ग्रामीणों और माफियाओं के बीच सिपाही भी शिकार हो गया, उसके साथ भी अभद्रता की गई, जिसका वीडियो सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहा है।

शिवम के द्वारा किया गया एक ट्वीट।
शिवम के द्वारा किया गया एक ट्वीट।

ग्रामीणों को माफिया देता है धमकी

इस घटना के बारे में सिद्धपुरा गांव की रहने वाले अभय प्रताप सिंह पुत्र रामवीर ने सोशल मीडिया पर पोस्ट अपलोड करते हुए तथा जालौन की जिलाधिकारी चांदनी सिंह को शिकायती पत्र देते हुए माफिया लगातार खनन कर रहे हैं, जिसमें पुलिस वाले भी उनका साथ दे रहे हैं। जब इसकी शिकायत की जाती है तो रामपुरा पुलिस उन्हें ही झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी देती है।

वहीं इस मामले में रामपुरा थाने के प्रभारी निरीक्षक कमलेश कुमार प्रजापति का कहना है कि देर रात को बालू खनन करने वालों के बीच हुए विवाद का मामला आया था, वहां पर थाने में तैनात सिपाही अंकित कुमार भी पहुंचा था इस दौरान उसके साथ भी अभद्रता की गई जिस ने इसकी शिकायत थाने में की है।

वहीं इस मामले में जालौन की अपर पुलिस अधीक्षक असीम चौधरी का कहना है कि मामला उनके संज्ञान में नहीं है, वह जानकारी लेने के बाद ही पूरे प्रकरण की जांच कराएंगे उसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...