पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जान पर भारी पड़ सकते हैं आवारा पशु:जालौन के बाजार में दो सांड की लड़ाई लोगों के लिए बनी मुसीबत, पकड़ने के लिए पालिका के पास नहीं है बजट

जालौन3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जालौन के उरई के बाजार में खरीददारी करने आए है तो सड़कों पर अलर्ट होकर चलें। यहां आपका सामना सड़कों पर घूमने वाले आवारा सांडों से हो सकता है, जो आपको नुकसान भी पहुंचा सकते हैं। उरई में दो सांड लड़ते लड़ते मुख्य बाजार में जा पहुंचे। जिन्हें देखकर बाजार में दुकानदारों ने अपनी दुकानों को बंद कर दिया और वहां से निकलने वाले लोग एकाएक थम गए। बड़ी देर तक इन सांडों की लड़ाई आपस में होती रही। दुकानदारों ने जब उनके ऊपर पानी डाला तब यह इनका आपसी झगड़ा बंद हुआ।

बाजार में जब दो सांडों के बीच हुई लड़ाई
मामला जालौन के उरई मुख्यालय के मुख्य बाजार का है, यहां दो सांड आपस में बुरी तरह भिड़ गए। एक तरफ वहां से वाहन गुजर रहे थे, दूसरी तरफ दोनों सांड आपस में लड़ रहे थे। काफी देर तक सांडों की लड़ाई चलती रही।पहले वहां मौजूद लोगों ने सांडों को हटाने का भी भरपूर प्रयास किया था। लेकिन कामयाब नहीं हुए, इसी दौरान लोगों ने सांडों की लड़ाई का वीडियो बनाकर वायरल कर उरई नगर पालिका की पोल खोल दी है।

जानवरों का कोई न कोई शिकार बनता रहता है
जानवरों का कोई न कोई शिकार बनता रहता है

मुख्य बाजार में आवारा जानवर
उरई के मुख्य बाजार गोपालगंज में रहने वाले आदित्य अग्रवाल उर्फ गुड्डा सेठ, हर्षित, अनमोल उर्फ हन्नू, विजय, संजय, इमरान, कासिम का कहना है, कि मुख्य बाजार में आवारा जानवर घूमते रहते है और आपस में लड़ते रहते हैं, जिस कारण आए दिन आवारा जानवरों का कोई न कोई शिकार बनता रहता है।

आवारा सांडों के लड़ने के कारण राहगीर भी परेशान
आवारा सांडों के लड़ने के कारण राहगीर भी परेशान

आवारा जानवरों से ग्राहक भी परेशान
आसपास के दुकानदारों का कहना है कि इन आवारा सांडों के लड़ने के कारण दुकान पर आने वाले ग्राहकों के वाहन भी क्षतिग्रस्त हो जाते हैं, कई बार इसकी शिकायत नगर पालिका अध्यक्ष अनिल बहुगुणा और पालिका के अधिशासी अधिकारी से भी की है, मगर कोई भी सुनवाई अब तक नहीं हुई है। इसके बारे में जिलाधिकारी को भी अवगत कराया गया है, मगर नगर में बनी गौशालाओं में इन आवारा सांडों को बंद नहीं किया जा रहा है, जिस कारण आए दिन हादसे होते रहते है।

हर रोज जारी रहता है इनका दंगल
हर रोज जारी रहता है इनका दंगल

नगर पालिका के पास नहीं है कोई व्यवस्था
इस बारे में नगर पालिका अध्यक्ष अनिल बहुगुणा का कहना है कि इन आवारा जानवरों को बंद करने के लिए किसी प्रकार की कोई व्यवस्था उरई नगर पालिका द्वारा नहीं की गई है। शासन को इसके बारे में लिखा गया है। लेकिन बजट न होने के कारण इनको बंद करने की किसी प्रकार की व्यवस्था नहीं हो पा रही है।

खबरें और भी हैं...