पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59838.21-0.43 %
  • NIFTY17913.95-0.14 %
  • GOLD(MCX 10 GM)480700.26 %
  • SILVER(MCX 1 KG)633193.1 %

जालौन में ओमप्रकाश राजभर का भाजपा सरकार पर हमला:बोले- ये सरकार अधिकारियों पर नहीं करती कार्रवाई, 2017 से 13 परीक्षाओं के पेपर हो चुके हैं लीक

जालौन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ओम प्रकाश राजभर का भाजपा पर हमला। - Money Bhaskar
ओम प्रकाश राजभर का भाजपा पर हमला।

जालौन में भारतीय सुहेलदेव समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार पर हमला बोला है। संसद में कृषि बिल रद्द किए जाने पर कहा कि यदि सरकार किसानों के हित में बिल को लाती, तो उन्हें इस कानून को वापस लेने की जरूरत नहीं पड़ती।

अभी तक अजय मिश्र टेनी को नहीं किया गया बर्खास्त

उन्होंने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा सरकार की करनी और कथनी में अंतर है। सरकार कहती कुछ और है और करती कुछ और है। उन्होंने लखीमपुर की घटना का उदाहरण देते हुए कहा कि लखीमपुर घटना के आरोपी केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के खिलाफ 302 का मुकदमा दर्ज है। साथ ही 120 बी के मुलजिम बनाए गए हैं, लेकिन अभी तक केंद्र सरकार द्वारा उन्हें मंत्रिमंडल से बर्खास्त नहीं किया गया है।

अडानी के लिए लाए थे कानून बिल

केंद्र सरकार द्वारा जो कृषि बिल लाया गया वो सिर्फ अडानी के राजस्थान और गुजरात के गोदामों को भरने के लिए लाया गया। यूपी में भी गोदामों को बनवाने के लिए सरकार द्वारा जमीन का अधिग्रहण कर लिया गया था। लेकिन किसानों के आंदोलन के बाद बिल रद्द होने से उनके मंसूबों पर पानी फिर गया।

आरएसएस के ट्रेनिंग सेंटर में सीख रहे झूठ बोलना

ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि 2017 से अब तक 13 परीक्षाओं के पेपर लीक हो चुके हैं, लेकिन सरकार उन जिम्मेदार अधिकारी और कर्मचारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। जिन्होंने पेपर को रुपए देकर लीक कराया है। उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग नागपुर में आरएसएस के खुले ट्रेनिंग सेंटर में झूठ बोलना सीख रहे हैं।

ओमप्रकाश राजभर की फिसली जुबान

कृषि बिल पर किसानों के समर्थन में बोलते समय ओमप्रकाश राजभर की जुबान फिसल गई। वो अचानक बोलने लगे कि लखीमपुर में चार-चार किसानों ने एक पत्रकार की हत्या कर दी। बाद में वह सुधार करते हुए बोले कि भाजपा सरकार में पत्रकार और किसानों की हत्या हुई है।

लखीमपुर में गाड़ी से किसान और पत्रकारों को कुचला गया है। इसके अलावा जो भी पत्रकार सरकार को आइना दिखाना चाहता है, उन पत्रकारों पर सरकार द्वारा मुकदमा दर्ज करा दिया जाता है।

खबरें और भी हैं...