पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जालौन में भाजपाइयों ने उदयपुर घटना को लेकर किया प्रदर्शन:राजस्थान के CM का पुतला फूंका,  हत्यारों को फांसी देने की मांग

जालौन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजस्थान के उदयपुर में नूपुर शर्मा के समर्थक कन्हैया की हत्या के बाद यूपी में विरोध-प्रदर्शन शुरू हो गया है। जालौन में भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने इस घटना का विरोध किया। भाजपाइयों ने उरई के शहीद भगत सिंह चौराहे पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का पुतला फूंका और जमकर नारेबाजी की। साथ ही राष्ट्रपति से हत्यारों को फांसी देने की मांग की।

भाजपाइयों ने उदयपुर घटना का किया विरोध।
भाजपाइयों ने उदयपुर घटना का किया विरोध।

घटना में सरकार भी दोषी
भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ता अंकित राजपूत और भाजपा नगर उपाध्यक्ष कपिल तोमर दमरास के नेतृत्व में दर्जनों भाजपा कार्यकर्ता शहीद भगत सिंह चौराहे पहुंचे थे। भाजपा कार्यकर्ताओं ने कहा, " जिस तरीके से राजस्थान में यह जघन्य घटना घटी है। कहीं न कहीं इसमें सरकार भी दोषी है, क्योंकि वहां पर हिंदुओं की सुरक्षा नहीं की जा रही है। पुतला फूंकने के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजते हुए हत्यारों को फांसी दिए जाने की मांग की है।

भाजपाईयों ने सीएम गहलोत का पुतला फूंका।
भाजपाईयों ने सीएम गहलोत का पुतला फूंका।

उदयपुर में क्या हुआ था?
मंगलवार शाम उदयपुर के रहने वाले कन्हैया लाल की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। हत्यारों ने उनकी दुकान पर पहुंच कर इस घटना को अंजाम दिया था। वह पेशे से एक टेलर थे। हत्या के 4 घंटे बाद आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

कन्हैयालाल ने इससे पहले सोशल मीडिया पर पोस्ट के जरिए नूपुर शर्मा के बयान का समर्थन किया था। एक टीवी डिबेट में नूपुर ने पैगंबर मोहम्मद पर बयान दिया था, जिसके बाद मुसलमानों ने सड़क पर उतर कर विरोध किया था। कन्हैयालाल को भी धमकियां मिली थीं।

डर के मारे कन्हैयालाल ने 6 दिनों तक अपनी दुकान भी नहीं खोली। तमाम तरह की सावधानी के बावजूद मंगलवार शाम को उनकी हत्या कर दी गई। उसके बाद हत्यारों ने एक वीडियो भी बनाया और प्रधानमंत्री को भी धमकियां दीं।

खबरें और भी हैं...