पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57491.51-2.62 %
  • NIFTY17149.1-2.66 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486500.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)64467-0.29 %

जालौन में होगा नून नदी के जीर्णोद्धार का काम:पीएम ने अपने संबोधन में किया इस नदी का जिक्र, डीएम ने बनाई समिति

जालौन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जालौन में सूखे के चलते नाले में बदल गई नून नदी। - Money Bhaskar
जालौन में सूखे के चलते नाले में बदल गई नून नदी।

जालौन में अस्तित्व खो चुकी नून नदी का जीर्णोद्धार विश्व जल दिवस पर डीएम प्रियंका निरंजन ने शुरू किया। उन्होंने इसके लिए एक समिति बनाई थी। समिति बनाने के बाद मनरेगा के तहत मजदूरों को काम दिया और इसके जीर्णोद्धार का काम शुरु कराया जाएगा।

शासन ने भी दे दी मंजूरी

जिले के उरई तहसील क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले कुकरगांव से महेवा विकासखंड के ग्राम मंगराया तक नून नदी निकली थी। जो किसानों के लिएवरदान बनी थी। लेकिन धीरे-धीरे यह नदी विलुप्त होने लगी थी और इसका अस्तित्व लगभग समाप्त हो गया था। जिसके बारे में जालौन की डीएम को जानकारी हुई और उन्होंने जल संरक्षण के तहत इस नदी का जीर्णोद्धार करने के लिये अधिकारियों से बात की और एक समिति बनाई। इसका प्रस्ताव शासन को भेजा जिसके संरक्षण के लिए शासन से मंजूरी दी गई। विश्व जल दिवस पर इसके संरक्षण का कार्य शुरू किया गया। डीएम ने खुद फावड़ा उठाकर श्रमदान करके काम शुरू किया था।

डीएम ने नदी पर पहुंचकर किया निरीक्षण
डीएम ने नदी पर पहुंचकर किया निरीक्षण

89 किलोमीटर के दायरे में फैली है नदी

89 किलोमीटर के दायरे में फैली इस नदी से करीब 30 गांवों की फसलें सिंचित होती थीं। लेकिन बुंदेलखंड में पड़ रहे सूखे के कारण ये नदी विलुप्त होती जा रही थी। जिसके बाद 22 मार्च को विश्व जल दिवस के मौके पर जल शक्ति अभियान के तहत इस नदी के संरक्षण के कार्य की शुरुआत की गई थी, नदी में मनरेगा के तहत खुदाई का कार्य शुरू किया गया था, जिससे कि वर्षा के जल का नदी में संचय हो और एक बार फिर नदी किसानों के लिए जीवनदायिनी बन सके।

पीएम ने मन की बात में किया था जिक्र

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 83 वी मन की बात देश वासियों के साथ की और जिसके जरिए देश को संबोधित किया। इस कार्यक्रम में उन्होंने जालौन का भी जिक्र किया। जिसमें उन्होंने अस्तित्व खो चुकी नून नदी के जीर्णोद्धार के बारे में जिक्र किया। जिसमें उन्होंने यहां के लोगों की जमकर तारीफ की। साथ ही लोगों के जरिए जीर्णोद्धार को जनसहभागिता का एक अच्छा उदाहरण बताया।

पीएम ने कहा कि यह नदी जालौन के किसानों के लिए सिंचाई का प्रमुख साधन थी। लेकिन धीरे धीरे यह नाले में तब्दील होती जा रही थी। जिसके जीर्णोद्धार का यहां के लोगो ने बीड़ा उठाया। पीएम द्वारा जिले की नून नदी का जिक्र किये जाने से जिले के लोगों में खुशी का माहौल है। जिले के लोग पीएम को धन्यवाद दे रहे हैं।