पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जालौन में एसपी ने दरोगा को किया लाइनहाजिर:छुट्‌टी पर होने के बावजूद मकान निर्माण रुकवाने गए थे दरोगा, महिलाओं ने कर दी थी पिटाई

जालौन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लाइन हाजिर दरोगा। - Money Bhaskar
लाइन हाजिर दरोगा।

जालौन में बीते दिनों मकान निर्माण के विवाद को सुलझाने पहुंचे कैलिया थाने में तैनात दरोगा की महिलाओं ने जमकर पिटाई की थी। इस मामले में ग्रामीणों ने दरोगा की शिकायत भी की थी, जिसकी जांच सीओ कोंच को दी गई थी। मामले में जांच रिपोर्ट आने के बाद जालौन के पुलिस अधीक्षक रवि कुमार ने गुरुवार को दरोगा के खिलाफ कार्रवाई करते हुए लाइन हाजिर कर दिया है।

मकान निर्माण रुकवाने गए थे दरोगा

बता दें कि 16 जून को कैलिया थाना क्षेत्र के ग्राम पहाड़गांव में मकान के निर्माण को लेकर राजेश और पड़ोस में रहने वाले संतराम का विवाद हो गया था। जिसमें संतराम द्वारा मकान का काम रुकवाने के लिए कैरियर थाने में शिकायत की थी, जिस पर उपनिरीक्षक ज्ञानेश्वर विश्वकर्मा छुट्टी पर होने के बावजूद मामले की जांच करने पहुंच गए। इस दौरान संतराम का पक्ष लेते हुए उपनिरीक्षक ज्ञानेश्वर विश्वकर्मा ने मकान का काम रुकवाने का प्रयास किया था, जिस पर विवाद हो जाने पर उपनिरीक्षक ज्ञानेश्वर विश्वकर्मा में दूसरे पक्ष के साथ मिलकर राजेश और उसके परिजनों के साथ मारपीट की थी।

महिलाओं ने कर दी थी दरोगा की पिटाई

राजेश की घर की महिलाओं ने एकजुट होकर दरोगा की मिलकर पिटाई कर दी थी, साथ ही पहाड़गांव की रहने वाली लाडकुंवर पत्नी धन सिंह ने पूरे मामले की शिकायत पुलिस अधीक्षक रवि कुमार से की थी, जिन्होंने मामले की जांच के लिए कोंच की तत्कालीन सीओ शाहिदा नसरीन को दी थी, जिन्होंने मामले की जांच की और जांच में पता चला कि कैलिया में तैनात उपनिरीक्षक ज्ञानेश्वर विश्वकर्मा छुट्टी पर थे फिर भी हुआ है मामले में हास्य करने पहुंचे जिसके बाद यह विवाद हुआ। रिपोर्ट पुलिस अधीक्षक के पास जैसे ही पहुंची, उन्होंने तत्काल कार्रवाई करते हुए कैलिया में तैनात दारोगा ज्ञानेश्वर विश्वकर्मा को लाइन हाजिर कर दिया है।