पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सिकन्दराराऊ...कोतवाल पर उत्पीड़न का आरोप लगाना पड़ा महंगा:हेड कांस्टेबल निलंबित, कहा- मुझे दबाव में लेकर दर्ज कराए बयान

सिकन्दराराऊ, हाथरसएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हेड कांस्टेबल अनिल कुमार पांडेय। - Money Bhaskar
हेड कांस्टेबल अनिल कुमार पांडेय।

सिकंदराराऊ के हसायन कोतवाली प्रभारी पर उत्पीड़न का आरोप लगाकर वीडियो वायरल करना हेड कांस्टेबल को महंगा पड़ गया। रविवार को पुलिस अधीक्षक ने पुलिस क्षेत्राधिकारी की रिपोर्ट पर उसे निलंबित कर दिया है। हेड कांस्टेबल को पुलिस लाइन से संबद्ध कर दिया गया। वहीं उन्होंने बिना उनका पक्ष सुनें, एक तरफ कार्रवाई करने का आरोप लगाया है।

कोतवाली प्रभारी श्याम सिंह।
कोतवाली प्रभारी श्याम सिंह।

कोतवाल पर यह लगाया था आरोप

सिकन्दराराऊ हसायन थाने में तैनात हेड कांस्टेबल अनिल कुमार पांडेय का दो दिन पहले एक वीडियो वायरल हो हुआ था। इसमें वह कह रहे थे कि कोतवाली प्रभारी श्याम सिंह जिस दिन से कोतवाली में तैनात होकर आए हैं, उसी दिन से उनको प्रताड़ित करने में लगे हैं। नौ मई को न्यायालय विशेष न्यायाधीश गैंगस्टर कोर्ट कासगंज में सीओ सुरेंद्र सिंह व कोतवाली प्रभारी श्याम सिंह से अनुमति लेकर नोटिस साक्ष्य के लिए गए थे। उसके बाद भी कोतवाली प्रभारी श्याम सिंह ने जीडी में तस्करा दर्ज करा दिया था।

सीओ सुरेंद्र सिंह।
सीओ सुरेंद्र सिंह।

सिपाही ने पुलिस की छवि खराब की

कोतवाली प्रभारी श्याम सिंह का कहना था कि उन्होंने हेड कांस्टेबल को कई बार हिदायत दी। मगर विभागीय कार्य में वह रुचि नहीं ले रहे थे। जिस कारण आदेश का अनुपालन नहीं किए जाने पर जीडी में तस्करा अंकित कराया गया है। पुलिस अधीक्षक कार्यालय से जारी हुए हेड कांस्टेबल के निलंबन के आदेश में लिखा है कि उन्होंने कोतवाली प्रभारी से टीका टिप्पणी की। उच्चाधिकारियों के आदेश का पालन नहीं किया। स्वेच्छा से सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल किया गया है, जिससे पुलिस विभाग की छवि धूमिल हुई है। जिससे जनता में पुलिस के प्रति अविश्वास की भावना प्रकट हुई है।

दबाव में लेकर दर्ज किया मेरा बयान

पत्र में यह भी कहा गया है कि हेड कांस्टेबल को कोई समस्या थी तो वह नियमानुसार अपने उच्चाधिकारियों को अवगत कराते। परंतु उन्होंने ऐसा न कर राजकीय कर्तव्य पालन के प्रति लापरवाही व अनुशासनहीनता का परिचय दिया है। हेड कांस्टेबल अनिल कुमार को निलंबित करते हुए उनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं। उन्हें पुलिस लाइन में मौजूद रहने के निर्देश जारी किए गए हैं। वहीं, हेड कांस्टेबल अनिल कुमार पांडेय का कहना है कि मेरा पक्ष नहीं सुना नहीं गया है। मुझे दबाव में लेकर मेरे बयान दर्ज कराए। मेरे खिलाफ एकतरफा कार्रवाई कर दी गई।

खबरें और भी हैं...