पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अग्निपथ योजना के खिलाफ प्रदर्शन:पुलिस अधीक्षक भारी पुलिस फोर्स के साथ रेलवे स्टेशन पर पहुंचे, सोशल मीडिया पर रखी जा रही नजर

हाथरस2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हाथरस में अग्निपथ योजना के खिलाफ प्रदर्शन न हो इसके लिए जिलाधिकारी रमेश रंजन और पुलिस अधीक्षक विकास कुमार वैद्य ने संयुक्त रूप से रेलवे स्टेशनों का निरीक्षण किया। साथ ही कानून व्यवस्था सुदृढ़ बनाये रखने के लिए थाना सहपऊ क्षेत्रान्तर्गत जलेसर रेलवे स्टेशन पर पैदल मार्च किया। शनिवार सुबह से ही पुलिस अधीक्षक विकास वैध, अपर पुलिस अधीक्षक प्रकाश कुमार भारी पुलिस फोर्स के साथ रेलवे स्टेशन पर पहुंच गए और सघन चेकिंग की है। वहीं रेलवे स्टेशन पर संदिग्ध प्रतीत हो रहे व्यक्तियों से पूछताछ की।

अनावश्यक रूप से स्टेशन पर एकत्रित हुए लोगों को चेतावनी देकर छोड़ा है। इसी के साथ कल देर रात जिलाधिकारी रमेश रंजन और पुलिस अधीक्षक विकास वैध ने क्षेत्र के गणमान्य/संभ्रांत व्यक्तियों व युवाओं के साथ मीटिंग का आयोजन किया गया। मीटिंग के दौरान पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी तथा क्षेत्र के गणमान्य/सम्भ्रान्त व्यक्ति और युवा आदि मौजूद रहे। इस दौरान मीटिंग में उपस्थित सभी सम्भ्रान्त/गणमान्य व्यक्तियों और युवाओं से वार्ता की गई।

अपर पुलिस अधीक्षक प्रकाश कुमार भारी पुलिस फोर्स के साथ रेलवे स्टेशन पर पहुंचे।
अपर पुलिस अधीक्षक प्रकाश कुमार भारी पुलिस फोर्स के साथ रेलवे स्टेशन पर पहुंचे।

सोशल मीडिया पर रखी जा रही नजर
सभी से अपील की गई की किसी भी तरह से सरकारी संपत्ति को नुकसान ना पहुंचाए तथा अपने आसपास होने वाली छोटी से छोटी घटनाओं की सूचना समय से पुलिस को दे। जिससे कोई बड़ा विवाद उत्पन्न न हो सके। सभी को बताया गया कि गलत बयान जारी करने, किसी भी प्रकार की भ्रामक खबरें, अफवाह फैलाने, भड़काऊ भाषण करने वालों के विरुद्ध कड़ी कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जायेगी। मीटिंग के दौरान उपस्थित सभी लोगों को बताया गया कि जनपद में ड्रोन कैमरा के माध्यम से लगातार निगरानी की जा रही है।

भड़काऊ भाषण करने वालों के विरुद्ध कड़ी कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जायेगी।
भड़काऊ भाषण करने वालों के विरुद्ध कड़ी कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जायेगी।

किसी भी प्रकार का कोई अनैतिक क्रियाकलाप ना किया जाये। साथ ही अवगत कराया गया कि सोशल मीडिया पर अवांछनीय और उत्तेजक पोस्टों पर बिना पुष्टि के कतई विश्वास न करें, कोई अवांछित पोस्ट न करें और इनके बहकावे में आकर कोई ऐसा कृत्य न करे, जिससे जनपद में अमन चैन एवं सांप्रदायिक सौहार्द प्रभावित हो। पुलिस द्वारा अफवाह फैलाने वाले व्यक्तियों पर लगातार सोशल मीडिया टीम द्वारा निगरानी की जा रही है।