पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हाथरस में बच्चों का अन्नप्राशन कराया गया:पोषण माह के तहत सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर हुआ कार्यक्रम, मीठी खीर खिलाई

हाथरस2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हाथरस में बच्चों के अन्नप्राशन का कार्यक्रम कराया गया। - Money Bhaskar
हाथरस में बच्चों के अन्नप्राशन का कार्यक्रम कराया गया।

पूरे प्रदेश में मनाए जा रहे पोषण माह के क्रम में मंगलवार को हाथरस के सभी 1712 आंगनबाड़ी केंद्रों पर अन्नप्राशन कार्यक्रम कराया गया। इसके तहत छह माह पूरे कर चुके बच्चों को मीठी खीर खिलाकर उसका अन्नप्राशन किया गया।

कार्यक्रम के तहत आंगनबाड़ी केंद्र सठिया पर बाल विकास परियोजना अधिकारी सासनी धीरेंद्र उपाध्याय, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी चतुर सिंह और ग्राम प्रधान की उपस्थिति में तीन बच्चों का अन्नप्राशन किया गया। इस दौरान बाल विकास परियोजना अधिकारी ने बताया कि अन्नप्राशन की गतिविधि के तहत माताओं को इस बारे में जागरूक किया जाता है।

हाथरस में बच्चों के अन्नप्राशन का कार्यक्रम कराया गया।
हाथरस में बच्चों के अन्नप्राशन का कार्यक्रम कराया गया।

सभी लोग बच्चों का कराएं टीकाकरण
बताया जाता है कि उनको अपने बच्चे का अब ऊपरी आहार शुरू करना है और स्तनपान के साथ बच्चे को समय-समय पर ऊपरी आहार देना है। इससे बच्चे का शारीरिक और मानसिक विकास संपूर्ण तरीके से हो सके। स्वास्थ्य शिक्षा सूचना अधिकारी चतुर सिंह ने कहा कि सभी माताएं अपने बच्चे का टीकाकरण कराना सुनिश्चित करें। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सठिया प्रेमलता ने बताया कि पोषण माह के तहत केंद्र पर विभिन्न गतिविधि आयोजित की जा रही हैं।

नवजात की देखभाल के दिए टिप्स
इस दौरान महिलाओं को नवजात की देखभाल के लिए टिप्स दिए जा रहे हैं। वहीं, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता दयानतपुर रेनू रावत ने बताया कि पोषाहार का वितरण किया जा रहा है। इसके अलावा गांव में पोषण जागरूकता को लेकर रैली भी निकाली जा रही है।

छह माह तक सिर्फ स्तनपान कराएं
लाभार्थी डोली ने बताया कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा उन्हें हरी साग-सब्जियां खाने के लिए बताया जाता है। पिंकी ने बताया कि आंगनबाड़ी केंद्र से पोषाहार मिलता है। आंगनबाड़ी द्वारा उन्हें बच्चे को सेहतमंद बनाने की जानकारी दी जाती है। उन्हें बताया गया है कि छह माह तक बच्चे को सिर्फ स्तनपान कराना है, ऊपरी आहार नहीं देना है।

खबरें और भी हैं...