पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रिश्वत लेकर भी नहीं बढ़ाए चोट के निशान:पाली पीएचसी में फॉर्मासिस्ट पर आरोप लगाकर महिला ने किया हंगामा, निलंबित

सवायजपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पाली सीएचसी में महिला ने फॉर्मासिस्ट ने पर रिश्वत लेने का आरोप लगाया। - Money Bhaskar
पाली सीएचसी में महिला ने फॉर्मासिस्ट ने पर रिश्वत लेने का आरोप लगाया।

सवायजपुर तहसील क्षेत्र के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पाली में रुपए लेकर मेडिकल रिपोर्ट में फेरबदल करने वाले फॉर्मासिस्ट को सीएमओ ने निलंबित कर दिया है। महिला के सिर पर चोट के निशान बढ़ाने के नाम पर फॉर्मासिस्ट ने रुपए लिए थे लेकिन सामान्य रिपोर्ट थमा देने पर महिला ने हंगामा किया था। इसके बाद घटना का वीडियो वायरल होने पर मामला सीएमओ तक पहुंचा था।

पाली कस्बे के निवासी निशा का मंगलवार की शाम किसी से विवाद हो गया था। मारपीट के दौरान उसके सिर में चोट लग गई थी। पुलिस ने डॉक्टरी परीक्षण के लिये उसे पाली पीएचसी भेजा था। पीएचसी में तैनात फॉर्मासिस्ट अवधेश यादव ने उसके सिर में एक और चोट बढ़ाने के नाम पर 2000 हजार रुपये रिश्वत मांगी थी, जिस पर निशा ने फार्मासिस्ट को 500 रुपये दे दिये थे। बकाया रुपये मेडिकल रिपोर्ट मिलने के बाद देने की बात हुई थी।

मारपीट में सिर पर चोट लगने के बाद पाली पीएचसी पहुंची महिला ने हंगामा किया था।
मारपीट में सिर पर चोट लगने के बाद पाली पीएचसी पहुंची महिला ने हंगामा किया था।

दूसरे कर्मचारी से वापस कराए रुपए
बुधवार की सुबह फार्मासिस्ट ने रुपये लेने के बाद उसे सामान्य रिपोर्ट थमा दी। इस पर महिला ने अस्पताल में हंगामा शुरू कर दिया। हंगामा बढ़ता देख फार्मासिस्ट अपने आवास पर चला गया। किसी अन्य कर्मचारी ने महिला के पैसे वापस कराए। किसी ने पूरे मामले का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। घटना का संज्ञान लेते हुये सीएमओ ओपो तिवारी ने रिश्वतखोरी में फार्मासिस्ट अवधेश यादव को निलंबित कर दिया। सीएमओ की कार्रवाई से स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया।

खबरें और भी हैं...