पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सौतेले बाप ने जला दिया प्राइवेट पार्ट:हापुड़ में पापा नहीं कहने पर बेरहम बाप ने 8 साल के बच्चे को पीटा, प्राइवेट पार्ट को बीड़ी से जलाया; पुलिस ने मामला 24 घंटे दबाकर रखा

हापुड़एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सौतेले बाप ने दी खौफनाक सजा। - Money Bhaskar
सौतेले बाप ने दी खौफनाक सजा।

हापुड़ जिले में पापा न कहने पर एक सौतेले बाप ने बेटे को इतनी खौफनाक सजा दी कि जिसे सुनकर दिल दहल जाए। बेरहम सौतेले बाप ने 8 वर्षीय मासूम की पहले जमकर पिटाई की फिर उसके प्राइवेट पार्ट को बीड़ी से दाग दिया। पड़ोसियों ने डायल 112 पर बच्चे के प्राइवेट पार्ट को दागने की सूचना दी, लेकिन पुलिस ने इस मामले को 24 घंटे तक दबाए रखा। पिटाई का वीडियो सामने आया और एसपी ने संज्ञान लिया, तब जाकर बाबूगढ़ थाने की पुलिस हरकत में आई। पुलिस ने बच्चे को मेडिकल से लिए भेज दिया है। आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

हार्ट अटैक से हुई थी पिता की मौत

मेरठ जिल के इंचौली थाना क्षेत्र के मैंथना गांव महिला की शादी 12 साल पहले राजपाल के साथ हुई थी। राजपाल से महिला के चार बच्चे हैं। 6 महीने पूर्व राजपाल की हार्ट अटैक से मौत हो गई थी। राजपाल ऑटो ड्राइवर था। राजपाल की मौत के बाद उसके तीन बच्चे दादा-दादी के पास रहने लगे, जबकि एक छोटा बेटा मां के साथ रहता था। इसी बीच राजपाल की पत्नी का मुंडाली थाना क्षेत्र के रचोटी गांव निवासी मनोज से संपर्क हो गया। महिला अपने छोटे बेटे को लेकर मनोज के साथ रहने लगी। 15 दिन पूर्व दोनों ने कुचेसर रोड चौपला पर किराए का मकान लिया था

आरोपी मनोज की फोटो
आरोपी मनोज की फोटो

स्कूल ले गया था

मनोज शुक्रवार को बच्चे को लेकर स्कूल पहुंचा, जहां बच्चे से जब पूछा गया कि क्या यह आपके पिता हैं तो उसने मना कर दिया। इस पर मनोज ने मासूम के स्कूल से घर पहुंचते ही उसकी बेरहमी से पिटाई करते हुए प्राइवेट पार्ट को जलती बीड़ी से दाग दिया। शिवा की चीख सुनकर पड़ोसियों ने डायल 112 पर कॉल कर मामले की सूचना दी।

सोशल मीडिया पर वायरल हुआ मामला

शुक्रवार शाम तक पुलिस मामले को दबाए रही। बच्चे की पिटाई का मामला सोशल मीडिया पर वायरल होने पर हापुड़ एसपी दीपक भूकर खुद बाबूगढ़ थाने पहुंचे। तब जाकर पुलिस ने बच्चे का मेडिकल कराया। आरोपी पिता को हिरासत में ले लिया गया है। एसपी हापुड़ दीपक भूकर ने बताया कि मामला संज्ञान में आने पर बच्चे को मेडिकल के लिए भेजा गया है। मेडिकल रिपोर्ट आने पर तत्काल प्रभाव से कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...