पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हमीरपुर में नेशनल हाइवे 34 को फोरलेन करने की मांग:युवाओं और समाजसेवियों ने किया प्रदर्शन, आए दिन लोगों की जाती है जान

हमीरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कानपुर से सागर मध्यप्रदेश को जोड़ने वाला नेशनल हाइवे 34 जिसने अब तक हमीरपुर जिले के 1200 लोगों की जान ले ली। वह ना तो फोर लेन है और ना ही इसपर डिवाइडर बना है। जिसपर अब तक होने वाले हादसों में 95 प्रतिशत हादसे आमने सामने हुए हैं।

इस हाइवे पर डिवाइडर बने इसकी मांग बीते काफी अरसे से होती चली आई है। जिसने अब एक बार फिर तेजी पकड़ ली है। अब ये आन्दोलन का रूप ले रही है। जिले भर के तमाम युवा इस मिशन में जुड़ रहे हैं, तो वहीं सभी राजनैतिक दलों के लोगों सहित समाजसेवी और अधिवक्ता इस मिशन का हिस्सा बने हैं। खूनी हाइवे के नाम से प्रचलित हो चुके हाइवे को फोर लेन करते हुए डिवाइडर की मांग कर रहे हैं।

हाइवे को फोरलेन कराने के लिए युवाओं ने डीएम को ज्ञापन सौंपा।
हाइवे को फोरलेन कराने के लिए युवाओं ने डीएम को ज्ञापन सौंपा।

इस हाइवे पर रोज होते हैं हादसे
हमीरपुर से होकर गुजरने वाले नेशनल हाइवे 34 पर हादसे तो रोज होते हैं। जिसमें किसी ना किसी की जान भी जाती रहती है। लेकीन बीते तीन दिन पहले यहां एक भीषण हादसा हुआ था। जिसमें 9 लोगों की मौत हुई थी। वही हादसे का शिकार हुए तीन लोग ऐसे थे जो एक ही परिवार के थे।

इस हाइवे पर चलना इतना आसान नहीं है क्योंकि यहां हादसा का ग्राफ बहोत ज्यादा है।
इस हाइवे पर चलना इतना आसान नहीं है क्योंकि यहां हादसा का ग्राफ बहोत ज्यादा है।

हादसे ने सभी को झकझोर दिया था
इस दिल दहला देने वाले हादसे ने सभी को झकझोर कर रख दिया था। उसी दिन से युवाओं ने हाइवे पर डिवाइडर बनवाने की मांग शुरू कर दी थी। जो अब आन्दोलन की शक्ल लेने लगी है। आज सैकड़ों युवाओं ने एकत्रित होकर एसडीएम को ज्ञापन सौंपा है। मांग की है कि नेशनल हाइवे को फोर लेन करवाते हुए इसमें डिवाइडर बनवाया जाए।