पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हमीरपुर किशोर-किशोरयों के टीकाकरण में अव्वल:10 दिनों में 32 प्रतिशत बच्चों को लगाई गई वैक्सीन, अभिभावकों से की गई अपील अन्य बच्चों को लाने की अपील

हमीरपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हमीरपुर में स्कूल में बच्चों को लगाई गई कोरोना वैक्सीन - Money Bhaskar
हमीरपुर में स्कूल में बच्चों को लगाई गई कोरोना वैक्सीन

हमीरपुर में किशोर-किशोरियों को कोरोना संक्रमण से सुरक्षित बनाने को लेकर इसी माह तीन जनवरी से शुरू किए गए टीकाकरण अभियान में जनपद ने मण्डल में पहला स्थान हासिल किया है। दस दिनों के अंदर ही 32.61 फीसदी किशोर-किशोरियों को टीका लगाया जा चुका है। दूसरे स्थान पर चित्रकूट है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. ए.के. रावत ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अभिभावकों से अपील की है कि वह अपने 15 साल से अधिक उम्र बालक-बालिकाओं को बूथों पर लाकर या फिर स्कूल-कॉलेज में लगने वाले शिविर में अवश्य टीका लगवाए ताकि उन्हें कोरोना से सुरक्षित बनाया जा सके।

लगातार 15-18 साल के बच्चों को लग रही वैक्सीन

जिले में इस वक्त 15 से 18 साल के किशोर-किशोरियों का टीकाकरण पूरी रफ्तार से चल रहा है। दस दिन के अंदर ही जनपद ने मण्डल के अन्य जिलों को पीछे छोड़ते हुए पहला स्थान हासिल कर लिया है। प्रदर्शन के आधार पर जनपद की प्रदेश में 15वीं रैंक है। लक्ष्य के सापेक्ष अब तक 32.61 फीसदी किशोर-किशोरियों को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगा दी गई है। स्कूल-कॉलेजों में भी कैंप लगाकर टीके लगाए जा रहे हैं।

सीएमओ बोले- स्कूल, कॉलेजों में भेज रहे टीम

सीएमओ डॉ एके रावत ने बताया कि जनपद के समस्त स्कूल-कॉलेज में योजना के मुताबिक टीमें भेजकर कैंप लगाए जा रहे हैं। जिनके अच्छे परिणाम आ रहे हैं और बड़ी संख्या में किशोर-किशोरियां टीका लगवा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए टीकाकरण ही एकमात्र हथियार है। उन्होंने अभिभावकों से अपील की कि वह अपने 15 से 18 साल के बालक-बालिकाओं को बूथों में या फिर स्कूल-कॉलेज में लगने वाले कैंप में अवश्य टीका लगवा लें। इसके अलावा 18 साल से ऊपर के ऐसे लोग, जो अभी तक कोरोना का टीका नहीं लगवाए हैं, वह भी अवश्य टीका लगवाकर स्वयं को और अपने परिवार को कोरोना से सुरक्षित करें।

77450 किशोर-किशोरियों को किया गया है चिन्हित

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. महेश चंद्रा ने बताया कि जनपद में 77450 किशोर-किशोरियों को टीका लगाने को चिन्हित किया गया था। इसके सापेक्ष अब तक 25253 को टीका लगाया जा चुका है, जो कि 32.61 फीसदी है। प्रदर्शन के आधार पर जनपद मण्डल में प्रथम और प्रदेश में 15 वें स्थान पर है। प्रतिदिन स्कूल-कॉलेज में कैंप लगाकर टीके लगाए जा रहे हैं, जल्द ही छूटे हुए किशोर-किशोरियों को भी टीके लगा दिए जाएंगे।

दूसरे स्थान पर है चित्रकूट

मण्डल के अन्य जनपदों में किशोर-किशोरियों के टीकाकरण में चित्रकूट दूसरे स्थान पर है। इस जनपद में 69556 किशोर-किशोरियों को टीकाकरण के लिए चिन्हित किया गया था, जिसके सापेक्ष अब तक 22181 को टीके लग चुके है। बांदा का स्थान तीसरा है। यहां चिन्हित 126203 में 33954 और चौथे स्थान पर महोबा में 61436 के सापेक्ष 15321 किशोर-किशोरियों को टीके लगाए जा चुके हैं।

खबरें और भी हैं...