पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना से लड़ने के लिए तैयार नहीं हमीरपुर:ऑक्सीजन प्लांट को चलाने के लिए नहीं है जनरेटर का इंतजाम, कई जगह एक भी प्लांट नहीं

हमीरपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टीम ने अस्पताल पहुंचकर की जांच। - Money Bhaskar
टीम ने अस्पताल पहुंचकर की जांच।

कोरोना की थर्ड वेव से निपटने के लिए हमीरपुर स्वास्थ्य महकमा भले ही अपने आपको सक्षम बता रहा हो, लेकिन इसमें अभी बहुत सी कमियां हैं। जिससे आसानी से निपट पाना संभव नहीं दिखाई दे रहा है। जिला प्रशासन ने हमीरपुर में पांच ऑक्सीजन प्लांट के दम पर ऑक्सीजन की कमी ना होने की बात कही है।

इन पांचों ऑक्सीजन प्लांटों को चलाने के लिए जनरेटर का इंतजाम नहीं है। साथ ही किसी ऑक्सीजन प्लांट में सिलेण्डर भरने का भी इंतजाम नहीं है। जबकि बड़ी आबादी वाले सुमेरपुर इलाके में एक भी ऑक्सीजन प्लांट नहीं है।

लखनऊ की टीम ने की जांच

सूबे में लगातार कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। जिसको देखते हुए सूबे का स्वास्थ्य महकमा भी हरकत में है। लखनऊ की कई टीमें जिलों में पहुंच कर जांच पड़ताल कर चुकी हैं। सब कुछ दुरुस्त होने का दावा करते हुए कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की बात कह रही हैं।

बीते हफ्ते ही नोडल अधिकारी बीपीएस चौहान ने जिले के कई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों का जायजा लिया था। उन्होंने सब कुछ दुरुस्त होने की बात कही थी। वहीं तीन दिन पहले ही कायाकल्प की एक टीम ने जिले के कई अस्पतालों का निरीक्षण करते हुए कोरोना के थर्ड फेस से निपटने में अपने आपको सक्षम बताया था।

कर्मचारियों को ट्रेनिंग के लिए भेजा गया है

मामले में सीएमओ ऐके रावत का कहना है कि जनरेटर तो उपलब्ध हैं, लेकिन जिले में जो बड़े ऑक्सीजन प्लांट हैं उनके लिए बड़े जनरेटरों के लिए लिखा पढ़ी की जा चुकी है। साथ ही जिन कर्मचारियों को ऑक्सीजन प्लांट चलाने की जिम्मेदारी दी गई है। उनको ट्रेनिंग के लिए भेजा जाएगा। जिन जगहों पर ऑक्सीजन प्लांट नहीं हैं, वहां सीरियस मरीजों को नहीं रखा जाएगा।

खबरें और भी हैं...